अपना शहर चुनें

States

MP: उपचुनाव नतीजों के बाद सीएम शिवराज-ज्योतिरादित्य सिंधिया की मुलाकात, कैबिनेट विस्तार की अटकलें तेज

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच मुलाकात.
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच मुलाकात.

मध्य प्रदेश में हुए उपचुनाव में बीजेपी को मिली जीत के बाद पहली बार  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan)  और बीजेपी सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के बीच मुलाकात हुई. एक बार फिर मंत्रिमंडल विस्तार की चर्चाएं भी तेज होने लग गई है.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलें एक बार फिर तेज हो गई हैं. इस बार इन अटकलों को हवा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) और बीजेपी सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) की सोमवार को भोपाल में हुई मुलाकात के बाद मिली है. उपचुनाव के नतीजों के बाद भोपाल पहुंचे ज्योतिरादित्य सिंधिया की इससे पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात टल गई थी, लेकिन सोमवार को दोनों नेता ओरछा में शादी समारोह में शामिल होने से पहले सीएम हाउस में एक साथ बैठे. इतना ही नहीं सीएम हाउस में मुलाकात के बाद दोनों नेता केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल की बेटी के शादी समारोह में ओरछा विशेष विमान से एक साथ ही रवाना हुए.

इस मुलाकात के अब कई सियासी मायने लगाए जा रहे हैं. अटकलें लग रही हैं कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच संभावित मंत्रिमंडल विस्तार और निगम मंडलों में नियुक्ति को लेकर चर्चा हुई है. हालांकि सोमवार सुबह भोपाल एयरपोर्ट पर मीडिया से बात करते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मुलाकात के दौरान मंत्रिमंडल पर बातचीत होने से इनकार किया था और ये कहा था कि ये सीएम का विशेषाधिकार है. इस पर केंद्रीय नेतृत्व और सीएम फैसला लेंगे.

ये भी पढ़ें: Bihar: औरंगाबाद में तेजधार हथियार से दो युवकों की हत्या, रेलवे ट्रैक पर फेंकी लाश



दिल्ली गए सीएम
खास बात यह है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और ज्योतिरादित्य सिंधिया की मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री सोमवार शाम को ही दिल्ली रवाना हुए. दिल्ली में मुख्यमंत्री की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय नेतृत्व से मुलाकात प्रस्तावित है. यह माना जा रहा है कि भोपाल स्तर पर मंत्रिमंडल को लेकर हुई बातचीत के बाद अब मंत्रिमंडल के नामों को लेकर दिल्ली स्तर पर मंथन होना है. यही वजह है कि मुख्यमंत्री सिंधिया से मुलाकात के बाद दिल्ली रवाना हुए हैं.

कौन-कौन दावेदार ?

मंत्रिमंडल में किन चेहरों को जगह मिलेगी और कौन बाहर रह जाएगा इस पर सबकी निगाहें टिकी हैं. सिंधिया खेमे के दो मंत्री जिन्हें तय समय पर चुनाव ना होने की वजह से इस्तीफा देना पड़ा था उनमें तुलसी सिलावट और गोविंद राजपूत दोनों चुनाव जीत गए हैं, लेकिन फिर भी उन्होंने मंत्री पद की दोबारा शपथ नहीं ली है. वहीं सिंधिया खेमे के मंत्री गिर्राज दंडोतिया और इमरती देवी चुनाव हार चुके हैं. ऐसे में उन्हें मंत्री पद की जगह निगम मंडल में कब और कौन सी जिम्मेदारी दी जाएगी इस पर भी निगाहें टिकी है. माना जा रहा है कि सिंधिया इन सबको लेकर ही मुख्यमंत्री से लेकर संघ कार्यालय तक दौड़ लगा रहे है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज