लाइव टीवी

EXCLUSIVE: शिवराज सिंह चौहान का कांग्रेस पर सवर्ण आंदोलन की आग भड़काने का आरोप

Ravi Dubey | News18Hindi
Updated: September 23, 2018, 1:49 PM IST

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दावा किया कि बीजेपी ‘सबका साथ सबका विकास’ के फार्मूले पर चलती है. ‘सब समाज को साथ में लिए आगे बढ़ते जाना सबको न्याय... अन्याय किसी के साथ नहीं’.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 23, 2018, 1:49 PM IST
  • Share this:
मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सवर्ण आंदोलन के पीछे कांग्रेस का हाथ होने की आशंका जताई है. न्यूज़18 हिंदी को दिए विशेष साक्षात्कार में शिवराज ने साफ कहा कि कांग्रेस तथ्यों को अलग तरह से पेश करती है. लेकिन जनता सच्चाई जानती है और बीजेपी इसका जवाब ‘सबका साथ सबका विकास’ से देगी. शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ को नसीहत देते हुए कहा कि वो भारतीय जनता पार्टी के विधायकों को तोड़ने की बजाय अपनी पार्टी पर ध्यान दें. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के गढ़ छिंदवाड़ा में जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान न्यूज़18 हिंदी से खास बात की.

केन्द्र की मोदी सरका ने जब से अनुसूचित जाति जनजाति विधेयक पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को बदला है तब से ही सवर्ण आंदोलन सबसे अधिक मध्यप्रदेश में प्रभावी है. 6 सितंबर 2018 को सवर्ण समाज द्वारा बुलाए बंद का भी सर्वाधिक असर मध्यप्रदेश में ही देखा गया था. एमपी के ग्वालियर-चम्बल, मालवा, बुंदेलखण्ड और विन्ध्य इलाकों में सवर्ण आंदोलन का सबसे ज्यादा प्रभाव देखा गया था.

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दावा किया कि बीजेपी ‘सबका साथ सबका विकास’ के फार्मूले पर चलती है. ‘सब समाज को साथ में लिए आगे बढ़ते जाना सबको न्याय... अन्याय किसी के साथ नहीं’.

सवर्ण आंदोलन के पीछे कांग्रेस पार्टी का हाथ होने की आशंका जताते हुए शिवराज सिंह चौहान ने कहा, ‘कुछ लोग गलतफहमियां पैदा करने की कोशिश करते हैं. गलत तथ्य रखकर कांग्रेस भी कोशिश करती है कि असंतोष पैदा हो. लेकिन सब सच्चाई जानते हैं. हमारा यही कहना है कि सबका साथ सबका विकास’.

शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष को नसीहत देते हुए कहा कि किसी की नकल करके मंजिल तक नहीं पहुंचा जाता. राहुल गांधी की भोपाल यात्रा के दौरान उनके शिवभक्त होने के पोस्टर लगाए गए थे.

बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए 22 उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है. इसके बावजूद कांग्रेस को उम्मीद है कि वो बीएसपी के साथ राज्य में गठबंधन करने में कामयाब होगी. शिवराज ने कहा कि गठबंधन में जाना कांग्रेस की कमजोरी को दिखाता है. चौहान ने दावा किया कि कांग्रेस अपनी जीत को लेकर आश्वस्त नहीं है.

एमपी सीएम ने कहा, ‘जहां-जहां कांग्रेस ने गठबंधन किया, साफ हो गई. इसका मतलब ये उनका कॉन्फिडेंस हिला हुआ है. वो मानते हैं कि कांग्रेस अकेले नहीं जीत सकती.. गठबंधन करके जहां-जहां कांग्रेस लड़ी, वहां-वहां उसका सफाया हुआ है. मध्यप्रदेश में भी गठबंधन से कांग्रेस के सफाए का रास्ता होगा.’अपने तीसरे विधानसभा चुनाव प्रचार में शिवराज सिंह चौहान जन आशीर्वाद यात्रा के जरिए सभी 230 विधानसभा सीटों में सभाएं कर रहे हैं. छिंदवाड़ा कमलनाथ का गढ़ है और वो 16वीं लोकसभा में सबसे ज्यादा समय तक एक क्षेत्र से चुनकर आने वाले सांसद हैं. कमलनाथ ने पिछले दिनों दावा किया था कि बीजेपी के 30 विधायक उनके संपर्क में हैं.

इस पर पलटवार करते हुए शिवराज सिंह चौहान ने कहा, ‘कमलनाथजी पहले अपनी कांग्रेस संभालें, भाजपा की बात न करें. अपने नेताओं को संभालकर रखें और आंतरिक स्वास्थ की चिंता करें जो उनकी ड्यूटी है.’

बीजेपी के लिए सबसे बड़ी चुनौती एंटी इंकमबेंसी है. बार-बार हुए सर्वे में यह बात सामने आई है कि शिवराज सिंह से कहीं ज्यादा स्थानीय विधायकों को लेकर आम जनता और कार्यकर्ताओं में नाराजगी है. इसी के चलते बीजेपी 100 से ज्यादा विधायकों के टिकट काटने की तैयारी कर रही है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि विधायकों के प्रदर्शन के आधार पर पार्टी यह तय करेगी की उन्हें टिकट देना है या नहीं, ‘विधायकों से ज्यादा नाराजगी.. हम तो जनता के बीच में हैं.. पार्टी तय करेगी.. जिन्होंने बेहतर पर परफॉर्म किया है.. जिनका काम ज्यादा खराब हुआ.. उन पर पार्टी विचार करेगी.’

अपनी जन आशीर्वाद यात्रा पर हुए हमलों के लिए भी शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस को ही जिम्मेदार बताया. शिवराज ने कहा, ‘कुछ जगह कांग्रेस के लोगों ने कोशिश की.. कहीं काले झंडे दिखाओ, कहीं विरोध करो.. एक ही घटना अपवाद थी.. उसमें कांग्रेस के लोग पकड़े गए.’

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि वो लगातार जनता की सेवा अन्तर्मन से करते आ रहे हैं. यही वजह है कि प्रदेश की साढ़े सात करोड़ जनता उन्हें अपना परिवार जैसा मानती है. सीएम ने दावा किया कि बीजेपी के परम्परागत समर्थन के साथ साथ उनके साथ गरीब तबके के दूसरे लोग भी जुड़ रहे हैं, जिसकी वजह से बीजेपी का आधार लगातार बढ़ रहा है.

ये भी पढ़ें-

कमलनाथ ने कहा, 'भगवा रंग पर किसी एक पार्टी का अधिकार नहीं'

जेटली बोले- कैंसिल नहीं होगी राफेल डील, राहुल गांधी-ओलांद की जुगलबंदी पर उठाए सवाल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 23, 2018, 8:53 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर