4 घंटे में भरनी है 44 पेज की कॉपी, जानिए आखिर कोरोना कर्फ्यू तोड़ने वाले कैसे झेल रहे दिल पर बोझ

मध्य प्रदेश के सीधी जिले में एसपी ने कोरोना कर्फ्यू तोड़ने वालों के लिए अनोखी सजा का तरीका निकाला है.

मध्य प्रदेश के सीधी जिले में एसपी ने कोरोना कर्फ्यू तोड़ने वालों के लिए अनोखी सजा का तरीका निकाला है.

मध्य प्रदेश के सीधी जिले में कोरोना कर्फ्यू लागू है. इसे तोड़ने वालों को दिल पर बोझ झेलना पड़ रहा है. जिले के एसपी ने इनके लिए अनोखा आदेश निकाला है. इन्हें 4 घंटे में 44 पेज की कॉपी भरनी है.

  • Last Updated: May 2, 2021, 3:56 PM IST
  • Share this:
सीधी. सीधी में कोरोना कर्फ्यू तोड़ने वालों को पुलिस अनोखी सजा दे रही है. ऐसी सजा जिसमें उन्हें शारीरिक तकलीफ तो नहीं हो रही, लेकिन दिल पर बहुत बड़ा बोझ झेलना पड़ रहा है. इस दौरान कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करने वालों को नियम का पालन करने की शपथ भी दिलाई जा रही है.

दरअसल, सीधी जिला प्रसासन ने जिले में कोरोना कर्फ्यू लगाया है. इस दौरान लोगों को जरूरी चीजें लेने के लिए सुबह 6 बजे से दोपहर 11 बजे तक की छूट दी गई है. इसके बावजूद लोग बेवजह और बिना समय देखे घरों से निकल रहे हैं. ऐसे लोगों के खिलाफ SP पंकज कुमावत ने अनूठी सजा की शुरुआत की.

जानिए अनोखी सजा के बारे में

पुलिस जैसे ही किसी कोरोना गाइडलाइन तोड़ने वाले को पकड़ रही है, वैसे ही उसे कॉपी-पेन पकड़ा दी जाती है. इन लोगों से 44 पेज की कॉपी पूरी भरवाई जाती है. कॉपी में कोरोना गाइडलाइन पर निबंध लिखना है, जो 4 घंटे तक लिखना पड़ता है. कॉपी भरने के बाद भी उन्हें यह शपथ दिलाई जाती है कि अब वे बेवजह घरों से बाहर नहीं निकलेंगे. इस मामले में पुलिस अधीक्षक का कहना है कि बेवजह  घूम रहे लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है. बावजूद इसके लोग मान नहीं रहे. पुलिस अभी तक 20 हजार से ज्यादा लोगों के खिलाफ कार्रवाई कर चुकी है. इनसे लाखों का जुर्माना वसूला जा चुका है.
Youtube Video


देश में ये है प्रदेश की हालत

कोरोना संक्रमण (Corona virus) को लेकर मध्य प्रदेश में राहत भरी खबर सामने आई है. कोरोना संक्रमण के मामले में प्रदेश 13वें से 14वें स्थान पर खिसक गया है. प्रदेश में कोरोना के एक्टिव प्रकरणों की संख्या घटकर 90796 हो गई है. नए प्रकरणों की तुलना में रिकवरी बढ़ी है. बीते 24 घंटे में कोरोना के 12400 नए मरीज आए हैं जबकि 13 हजार 584  मरीज स्वस्थ हुए. वहीं प्रदेश की रिकवरी रेट 83 प्रतिशत हो गयी है. प्रदेश में कोरोना की पॉजिटिविटी रेट में भी गिरावट दर्ज की जा रही है. प्रदेश की औसत पॉजिटिविटी रेट 21.1% हो गई है. 7 दिन का औसत पॉजिटिविटी रेट 22.4% है. देश का सात दिन का औसत पॉजिटिविटी रेट 21% है.



कहां कितने केस ?

इंदौर जिले में सबसे ज्यादा 1811 नए कोरोना प्रकरण सामने आए हैं. भोपाल में 1713, ग्वालियर में 980, जबलपुर में 771, रीवा में 345, उज्जैन में 322, रतलाम में 280, सागर में 257, शहडोल में 256 और धार में 249 नए कोरोना केस रिपोर्ट हुए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज