तमिलनाडु में बंधक बने MP के 3 मजदूर भाग कर घर आए, 3 की अभी होनी है मुक्ति

Harish Dwivedi | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 28, 2019, 1:06 PM IST
तमिलनाडु में बंधक बने MP के 3 मजदूर भाग कर घर आए, 3 की अभी होनी है मुक्ति
मानव तस्करी: तमिलनाडु में बंधक MP के 2 मजदूर भाग कर आए (सांकेतिक तस्वीर)

सीधी जिले के गांव से कुछ लोगों को तमिलनाडु में ले जाकर बहला फुसला कर उन्हें अन्य राज्यों में बेच दिया गया.

  • Share this:
मध्यप्रदेश के सीधी (Sidhi) में मानव तस्करी (Human trafficking) का एक मामला सामने आया है. सीधी जिले के गांव से कुछ लोगों को तमिलनाडु में ले जाकर बहला फुसला कर उन्हें अन्य राज्यों में बेच दिया गया. इस मामले का खुलासा तब हुआ जब एक दिन बंधक बनाए लोग आरोपियों के चंगुल से आजाद होकर अपने अपने घर भागकर वापस आए. पीड़ितों ने बताया कि तमिलनाडु (Tamilnadu) में दो नाबालिग सहित 3 लोग अभी भी बंधक बने हुए हैं और उनसे मजदूरी का काम कराया जा रहा है. पीड़ित परिजनों ने मामले की शिकायत साीधी जिले के पुलिस अधीक्षक से की. पुलिस अधीक्षक ने तमिलनाडु में अभी भी फंसे नाबालिग बंधकों को मुक्त कराने का भरोसा दिया है.

3 सालों से तमिलनाडु में बंधक बनाकर करायी जा रही थी मजदूरी

सीधी में मानव तस्करी के शिकार तीन लोगों को 3 सालों से तमिलनाडु में बंधक बनाकर मजदूरी कराने का एक मामला सामने आया है. इसकी शिकायत पीड़ित परिजनों ने पुलिस अधीक्षक से की है. पीड़ितों ने बताया कि चुरहट थाना इलाके के बम्हनी और बारी गांव से जुलाई 2016 में फरीद, छोटे खां और संतोष, राजेश, राकेश, शिवदयाल केवट और 3 अन्य को पहले शहडोल ले जाया गया और फिर ट्रेन से उन्हें तमिलनाडु ले जाकर बेच दिया गया, लेकिन वहां से किसी तरह तीन लोग अपनी जान बचा कर भाग आए. फिलहाल पीड़ितों की शिकायत पर पुलिस (police) ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

पीड़ित परिजनों ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया
पीड़ित परिजनों ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया


आरोपियों के चंगुल से छूट कर आए तीन मजदूर

इस पूरे मामले में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षिक अंजु लता ने बताया कि आरोपियों के चंगुल से छूट कर एक व्यक्ति आया है और उसने यह जानकारी दी है कि 3 अन्य लोगों को तमिलनाडु में बंधक बना कर मजदूरी का काम कराया जा रहा है. पुलिस का कहना है कि मामला पुराना है इसलिए पूरे मामले की जांच की जाएगी और मौके पर टीम भेज कर लोगों को मुक्त कराकर वापस लाया जाएगा. पीड़ित परिजनों के अनुसार उन्होंने इसकी शिकायत पहले भी बम्हनी पुलिस चौकी में दर्ज कराई थी, लेकिन पुलिस ने इस पर कोई कार्रवाई नहीं की. नतीजन आज 3 साल से लोग तमिलनाडु में बंधक बनकर जीवन काट रहे हैं.

यह भी पढ़ें- बैतूल में फिर मानव तस्करी, दो लाख रुपए में किया किशोरी का सौदा
Loading...

यह भी पढ़ें-  मंदसौर: मानव तस्करी करते हुए तीन महिलाओं सहित पांच गिरफ्तार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सीधी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 28, 2019, 7:46 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...