ATM में डालने की बजाय कर्मी गायब कर देते थे रकम, खुलासा हुआ तो लाखों रुपये लेकर हुए रफूचक्कर
Sidhi News in Hindi

ATM में डालने की बजाय कर्मी गायब कर देते थे रकम, खुलासा हुआ तो लाखों रुपये लेकर हुए रफूचक्कर
पुलिस ने मामले में जांच शुरू कर दी है. आरोपी को गिरफ्तार करने का दावा किया गया है. (सांकेतिक फोटो)

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के सीधी जिले में पिछले सप्ताह लाखों रुपये लेकर गायब हुए एटीएम (ATM) में पैसे डालने वाली कैश वैन (Van) मामले का खुलासा करने का दावा पुलिस (Police) ने किया है.

  • Share this:
सीधी. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के सीधी जिले में पिछले सप्ताह लाखों रुपये लेकर गायब हुए एटीएम (ATM) में पैसे डालने वाली कैश वैन (Van) मामले का खुलासा करने का दावा पुलिस (Police) ने किया है. पुलिस का दावा है कि 1 करोड़ 68 लाख 21 हजार 900 रुपये गायब हो चुके हैं. जिले के 12 एटीएम में पैसे डालने की जिम्मेदारी सीएमएस कम्पनी के कर्मियों पर थी, जिसके कर्मी आरोपी सतीश रावत सहयोगी अनिल तिवारी मिलकर पूरे इस वारादात को अंजाम दिये हैं. मामले का खुलासा तब हुआ जब एटीएम में डाली जाने वाली नगदी रकम की आॅडिट शुरू हुई. उसी बीच आरोपी लाखों रुपये लेकर रफूचक्कर हो गये, जिसके बाद कम्पनी और बैंक प्रबंधक ने मामले की शिकायत सिटी कोतवाली पुलिस से की.

पुलिस ने दोनों आरोपियों को सिंगरौली से गिरफ्तार कर जांच शुरू की, जिसमे खुलासा हुआ कि आरोपियों को जब एटीएम में दस लाख नगदी डालने को मिलता था तो आरोपियों द्वारा 8 लाख ही एटीएम में डाला जाता था, शेष दो लाख पार कर देते थे. लेकिन कभी भी बैंक या ATM मशीन में पैसा डालने वाली कम्पनी आरोपियों के द्वारा लंबे समय से की जा रही चोरी पर ध्यान नहीं दिया, जिसका नतीजा आरोपियों का हौसला बुलन्द होता गया और धीरे-धीरे लाखों रुपये की चोरी करोड़ तक पहुंच गई.





नगद रकम जब्त
सीधी की एएसपी अंजुलता पटले ने बताया कि पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से कुछ नगदी रकम और एक कार 2 बाइक जब्त किए हैं. आरोपियों द्वारा करोड़ों रुपयों पर हाथ साफ किया जा चुका है, लेकिन पुलिस के हाथ कुछ नगदी और वाहन की कीमत मिलकर 23 लाख ही लग सका है. पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ धारा 420 के तहत मामला पंजीबद्ध कर जेल की सलाखों में पहुंचा दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज