Home /News /madhya-pradesh /

6 साल के लाल को उठा ले गया था तेंदुआ, मां ने 1 KM तक किया पीछा, मौत के जबड़े से निकाल लाई बेटे को

6 साल के लाल को उठा ले गया था तेंदुआ, मां ने 1 KM तक किया पीछा, मौत के जबड़े से निकाल लाई बेटे को

सीधी जिले में 6 साल के बेटे को बचाने एक मां तेंदुए से भिड़ गई.

सीधी जिले में 6 साल के बेटे को बचाने एक मां तेंदुए से भिड़ गई.

Madhya Pradesh News: सीधी जिले में एक मां की बहादुरी की मिसाल दी जा रही है. मां किरण बैगा अपने 6 साल के बेटे राहुल को बचाने मौत से भिड़ गई. राहुल को तेंदुआ मां के सामने ही उठाकर ले गया था. किरण ने डंडा लेकर करीब एक किमी तक उसका पीछा किया. उसने तेंदुए से पहले बच्चे को बचाया और फिर खुद को. घटना सीधी जिले के कुसमी ब्लॉक के संजय टाइगर बफर जोन की 28 नवंबर की है. किरण अपने परिवार के साथ इस बफर जोन की टमसार रेंज में आने वाले बाड़ीझरिया गांव में रहती है. बच्चे को बचाने के बाद महिला बेहोश हो गई.

अधिक पढ़ें ...

सीधी. मध्य प्रदेश के सीधी जिले में एक मां बेटे को बचाने के लिए मौत से लड़ गई. इस मां के 6 साल के बेटे को तेंदुआ उठा ले गया था. मां ने तेंदुए का एक किलोमीटर दूर तक पीछा किया और उससे बच्चे को छीन लिया. इस घटना में मां और बेट दोनों घायल हो गए. दोनों का कुसमी के सरकारी अस्पताल में इलाज कराया गया.

घटना सीधी जिले के कुसमी ब्लॉक के संजय टाइगर बफर जोन की 28 नवंबर की है. इस बफर जोन की टमसार रेंज में आने वाला बाड़ीझरिया गांव चारों ओर से जंगल और पहाड़ियों से घिरा हुआ है. रविवार शाम करीब 7 बजे किरण बैगा अपने बच्चों के साथ अलाव ताप रही थी. उसका पति शंकर बैगा किसी काम से घर से बाहर गया हुआ था. किरण की गोद में ही एक बच्चा बैठा था, दो पास में अलाव ताप रहे थे. इस बीच एक तेंदुआ पीछे से आया और बगल में आग ताप रहे बेटे राहुल को लेकर जंगल में भाग गया.

इस तरह से मां ने बचाया बच्चे को

इस घटना के बाद किरण ने मीडिया को बताया कि बच्चे को तेंदुए को उठाते हुए उसने देख लिया था. वह तुरंत उसके पीछे-पीछे भागी. उसने बताया कि उसने तेंदुए का करीब 1 किलोमीटर पीछा किया. उसने देखा कि तेंदुए ने राहुल को पंजों में दबोच लिया है. उसने आव देखा न ताव और डंडा लेकर तेंदुए को मारने लगी. उसने जैसे-तैसे बच्चे को जानवरा से छुड़ा लिया. तेंदुए ने जब किरण पर हमला किया तो महिला ने उसके पंजे हाथ से पकड़कर छिटक दिए. इतने में शोर सुनकर अन्य ग्रामीण भी वहां आ गए. इससे तेंदुआ जंगल की ओर भाग गया.

सभी घायलों का इलाज जारी

बच्चे को बचाने के बाद महिला बेहोश हो गई.  घटना की सूचना संजय टाइगर रिजर्व के अमले को दी गई. वन विभाग टमसार रेंज की टीम तुरंत किरण के घर पहुंची और सभी घायलों को उपचार के लिए कुसमी अस्पताल में भर्ती कराया. तेंदुए के हमले में बच्चे और राहुल के पिता शंकर बैगा के गले, पीठ और बाईं आंख में गंभीर चोट आई है. वहीं किरण बैगा के शरीर में भी नाखून से खरोंच के निशान हैं.

Tags: Mp news, Sidhi News

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर