• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • Sidhi Bus Accident: सीएम शिवराज ने कैंसिल किया गृह प्रवेश का कार्यक्रम, दो मंत्रियों को मौके पर भेजा

Sidhi Bus Accident: सीएम शिवराज ने कैंसिल किया गृह प्रवेश का कार्यक्रम, दो मंत्रियों को मौके पर भेजा

कोरोना को लेकर सीएम ने कहा कि वे एक दिन सायरन बजवाएंगे. (File)

कोरोना को लेकर सीएम ने कहा कि वे एक दिन सायरन बजवाएंगे. (File)

Sidhi Bus Accident: सीधी-सतना मार्ग पर हुई बस दुर्घटना के बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल में गृह प्रवेश का कार्यक्रम स्थगित किया. सरकार ने मृतकों के परिजनों के लिए मुआवजे का ऐलान किया है.

  • Share this:

    सीधी. सीधी बस हादसे में मरने वालों की संख्या 38 तक जा पहुंची है. इसकी पुष्टि मौके पर मौजूद एसडीआरएफ की टीम ने की है. मरने वालों में स्टूडेंट, महिला और बुजुर्ग सब शामिल हैं. इधर CM शिवराज सिंह चौहान ने सीधी बस हादसे के बाद भोपाल के मिंटो हॉल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होने वाले 1 लाख 10 हजार घरों में गृह प्रवेश के कार्यक्रम को निरस्त कर दिया है. साथ ही उन्होंने मौके पर मंत्री तुलसी सिलावट और रामखिलावन पटेल को भेजा है.

    दोनों मंत्री घटनास्थल का दौरा कर राहत बचाव कार्य देखेंगे और सीएम शिवराज को रिपोर्ट देंगे. इस बीच सीएम शिवराज ने परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत को बुलाया है. वो मंत्रालय में परिवहन मंत्री से हादसे (Sidhi Bus Accident) के बारे में चर्चा करेंगे. सीएम शिवराज सिंह ने मृतकों के परिजनों के लिए मुआवजे का ऐलान किया है. प्रत्येक मृतक के परिवार को 5 लाख रुपये दिए जाएंगे.

    सीएम शिवराज ने अपने संदेश में कहा कि ‘मेरे प्रिय बहनों और भाइयों आज हम बड़े उत्साह से 1 लाख 10 हजार घरों में गृह प्रवेश का कार्यक्रम संपन्न करने वाले थे, लेकिन सवेरे 8:00 बजे ही मुझे यह सूचना मिली. सीधी जिले में बाणसागर की नहर में शारदा पाटन करके गांव हैं. वहां यात्रियों से भरी एक बस गिर गई, बाणसागर की नहर काफी गहरी है. हमने तत्काल बांध से पानी बंद करवाया. राहत और बचाव दलों को रवाना किया कलेक्टर एसपी एसडीआरएफ की टीम वहां है. हाइड्रा क्रेन सारे संसाधन पहुंचे हैं’.

    CM ने कहा कि ‘बस निकालने के प्रयास हो रहे हैं. एंबुलेंस, डॉक्टर बाकी सभी व्यवस्थाएं वहां की हुई हैं. हमारी भरसक कोशिश यह है कि हम अपने भाई बहनों को बचा पाए, लेकिन ऐसी परिस्थिति में मेरा भी पूरा दिमाग शरीर, मन, बुद्धि और आत्मा उन्हीं यात्रियों में लगी हुई है. इसलिए आज कार्यक्रम करना उचित नहीं होगा. मैं भी तुरंत राहत और बचाव कार्य कार्य करने वाली टीम के संपर्क में सुबह 8:00 बजे से हूं, लगातार उन्हीं के संपर्क में रहना चाहता हूं. 7 साथी बचाए जा चुके हैं कोशिश यह है कि अपने भाई बहनों को सुरक्षित बचा पाएं. आज का कार्यक्रम हम स्थगित करते हैं इसे फिर और किसी अवसर पर करेंगे’.

    बता दें कि सीधी-सतना मार्ग पर अब तक तीन बड़े हादसे हो चुके हैं.पहला हादसा 1988 में हुआ था जब लिलजी बांध में बस जा गिरी थी. उस हादसे में 88 यात्रियों की मौत हो गयी थी. उसके बाद 18 नवंबर 2006 में में यात्रियों से भरी एक बस गोविंदगढ़ तालाब में जा घुसी थी. उस दुर्घटना में 68 यात्रियों की मौत हो गयी थी. उसके बाद आज फिर ये नया हादसा हो गया. ये दुर्घटना रामपुर नैकिन थाना क्षेत्र के पटना पुल पर घटी. पुल से बस नीचे नहर में जा गिरी. दुर्घटना में बस में सवार सात यात्रियों को सुरक्षित निकाल लिया गया है. शेष बचे यात्रियों की तलाश जारी है. मौके पर बड़े पैमाने पर रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया गया है. बस निकाली जा चुकी है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज