योगी आदित्यनाथ का बयान- कांग्रेस के दुष्प्रचार के खिलाफ मौन गुनाह माना जाएगा
Gwalior News in Hindi

योगी आदित्यनाथ का बयान- कांग्रेस के दुष्प्रचार के खिलाफ मौन गुनाह माना जाएगा
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कश्मीर की शांति और तरक्की देख पीओके भी भारत में शामिल होना चाहता है

सीएए पर सभा करने ग्वालियर पहुंचे योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून (CAA) किसी मजहब के खिलाफ नहीं है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस इसके विरोध के बहाने देश का सामाजिक ढांचा छिन्न भिन्न करने में लगी है. उन्होंने कहा कि 370 हटने के बाद कश्मीर की शांति-तरक्की देख पीओके भी भारत में शामिल होना चाहता है

  • Share this:
ग्वालियर. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कांग्रेस के दुष्प्रचार के खिलाफ सबको खड़ा होना पड़ेगा, मौन रहने वाला भी गुनहगार माना जाएगा. योगी ने कहा कि कांग्रेस देश के हितों के साथ खिलवाड़ कर रही है. उन्होंने कहा कि यह कानून किसी जाति मजहब के खिलाफ नहीं है. उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने तुष्टिकरण करने का काम किया है. योगी ने निशाना साधते हुए कहा कि वो लोग आज संविधान बचाने की बात कर रहे हैं, जिन्होंने संविधान का गला घोंटने का काम किया है.

विभाजन के खिलाफ थे गांधी-अंबेडकर
योगी ने कहा कि पाकिस्तान आज भारत और दुनिया के लिए नासूर बना हुआ है. योगी ने कहा कि 1950 नेहरू लियाकत के समझौते में साफ था जो जिस देश मे अल्पसंख्यक के रूप में रह रहे हैं उनका पूरा ख्याल रखा जाए. भारत ने तो अपना वादा निभाया लेकिन पाकिस्तान ने नहीं निभाया. योगी ने दावा किया कि भीम राव अम्बेडकर और गांधी जी पाकिस्तान विभाजन के खिलाफ थे लेकिन कांग्रेस की टीम थी जो हर हाल में सत्ता चाहती थी.

'POK भी भारत में शामिल होने को बेताब'



योगी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस घुसपैठियों की पैरवी कर रही है. आतंकवादी, नक्सलवादी की मदद करना कांग्रेस की आदत है. योगी ने दावा कि है कि 370 हटाने के बाद कश्मीर में विकास हुआ है, कश्मीर की शांति और तरक्की देख अब पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (Pakistan Occipied Kashmir) में भी भारत में शामिल होने की मांग उठ रही है।



राम मंदिर और जेएनयू पर कांग्रेस और लेफ्ट को घेरा
योगी ने कहा कि राम मंदिर 1947 में भी बन सकता था, लेकिन कांग्रेस की नीयत में खोट थी, लिहाजा कांग्रेस ने राम मंदिर को लेकर प्रयास नहीं किए, लेकिन अब मोदी सरकार ने सही तथ्य रखे तो न्यायालय ने राम मंदिर के पक्ष में फैसला दिया. जेएनयू हिंसा पर योगी ने वामपंथ को जिम्मेदार बताया है. योगी के मुताबिक जेएनयू में वामपंथियों ने अराजकता फैलाई, आज दिल्ली पुलिस ने सच्चाई सामने ला दी. सच्चाई सामने है कि वामपंथी ही जेएनयू में हुई हिंसा के जिम्मेदार हैं.

राजमाता को भी किया याद
अपने संबोधन के दौरान योगी आदित्य नाथ ने राजमाता विजयाराजे सिंधिया को भी याद किया। योगी ने कहा कि राजमाता ने भारत की सेवा के लिए समर्पित थीं, उन्होंने देश सेवा और समर्पण के लिए जन्म लिया था। आज उनके आदर्श बीजेपी के साथ ही देशवासियों को प्रेरणा देते हैं।

ये भी पढ़ें - 
BJP सांसद ने कहा- हमें संरक्षण चाहिए तो जीतू पटवारी बोले शिवराज ने मुझे 5 साल में 17 बार जेल भेजा
MPPSC की परीक्षा देने वालों के लिए ठहरने का इंतजाम करेगी कमलनाथ सरकार, सेव कर लें ये फोन नंबर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading