अपना शहर चुनें

States

स्पेन में स्पेशल फुटबॉल विश्वकप में खेलेगा मध्य प्रदेश का लाल

नेट प्रेक्टिस करते दिव्यांग फुटबॉल खिलाड़ी तौसीफ अहमद.
नेट प्रेक्टिस करते दिव्यांग फुटबॉल खिलाड़ी तौसीफ अहमद.

प्रतिभा किसी की मोहताज नहीं होती, इस बात को मध्य प्रदेश के डिंडोरी जिले के दिव्यांग तौसीफ अहमद ने साबित कर दिखाया है. तौसीफ का चयन स्पेन में आयोजित होने वाले दिव्यांग विश्वकप फुटबॉल प्रतियोगिता के लिए किया गया है.

  • Share this:
प्रतिभा किसी की मोहताज नहीं होती, इस बात को मध्य प्रदेश के डिंडोरी जिले के दिव्यांग तौसीफ अहमद ने साबित कर दिखाया है. तौसीफ का चयन स्पेन में आयोजित होने वाले स्पेशल विश्वकप फुटबॉल प्रतियोगिता के लिए किया गया है.

तौसीफ के पिता अफाक अहमद खान डिंडोरी के शाहपुर गांव में  चाय की दुकान चलाते हैं. इन दिनों तौसीफ शहडोल के रेलवे ग्राउंड में कोच रहीश अहमद के साथ प्रेक्टिस में पसीना बहा रहे हैं.

डिंडोरी जिले में खेल सुविधाओं की कमी और आर्थिक तंगी के कारण तौसीफ की खेल प्रतिभा शाहपुर गांव में सिमट कर गई थी. दिव्यांग होने के बाद भी तौसीफ अपने गांव में ही क्रिकेट और फुटबॉल खेलने की प्रैक्टिस करता रहा.



तभी तौसीफ के भाई खाला के बेटे रहीम की नज़र उसकी खेल प्रतिभा पर पड़ी और वह तौसीफ़ को वहां से शहडोल लेकर आ गए.
शहडोल के रेलवे ग्राउंड में रघुराज स्कूल के कोच रईश एहमद और रेलवे इंस्टिट्यूट के सचिव एके मोहंती ने तौसीफ़ के लिए मदद को हाथ बढ़ाया और उसकी खेल प्रतिभा को निखारने में जुट गए.

दिव्यांग तौसीफ़ बताता है घर कि आर्थिक स्थिति आज भी बहुत खराब है. पैसों की तंगी के कारण उसे अपनी पढ़ाई तक छोड़नी पड़ी. वह एक निजी स्कूल में नौकरी कर परिवार का भरण पोषण करने में सहयोग करता है.

गोवा में आयोजित राष्ट्रीय प्रतियोगिता में जाने के लिए रुपये तक नहीं थे, यहां तक कि तौसीफ़ के लिये ये पहला क्षण था जब उसने गोवा जाने के लिए ट्रेन में सफर किया.

गोवा में चयन के दौरान तौसीफ़ ने गोल कीपिंग में उत्कृष्ट प्रतिभा दिखाई. इंग्लैंड से आये कोच ने उन्हें सात गोल रोकने का टास्क दिया जिसमें तासिफ 5 गोल रोक कर अपनी खेल प्रतिभा का डंका बजा दिया.

कई देशों के चयनकर्ताओं ने बतौर गोल कीपर तौसीफ़ का चयन स्पेन में आयोजित होने वाली दिव्यांग विश्वप फुटबॉल प्रतियोगिता के लिए कर लिया. अभी इंडिया कैम्प में प्रेक्टिस के बाद तौसीफ़ भारतीय टीम का हिस्सा बनकर प्रदेश का नाम रोशन करेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज