अपना शहर चुनें

States

MP: निकाय चुनाव से पहले सप्लीमेंट्री बजट में शहरों पर दिखा सरकार का फोकस

सप्लीमेंट्री बजट में बाढ़ राहत और आपदा राहत निधि का भी रखा ध्यान
सप्लीमेंट्री बजट में बाढ़ राहत और आपदा राहत निधि का भी रखा ध्यान

भोपाल. प्रदेश के वित्त मंत्री तरुण भनोत (Tarun Bhanot) ने आज विधानसभा में 23 हजार 319 करोड़ के सप्लीमेंट्री बजट को पेश किया, जिस पर कल सदन में चर्चा होगी. सप्लीमेंट्री बजट (Supplymentry budget) में सरकार ने सीएम कमलनाथ के ड्रीम प्रोजेक्ट्स और शहरों के विकास के लिए राशि का प्रावधान किया है.

  • Share this:
भोपाल. सप्लीमेंट्री बजट में सीएम कमलनाथ (CM Kamalnath) के ड्रीम प्रोजेक्ट्स का खास ध्यान रखा गया है. प्रदेश में उद्योगपतियों को वीवीआईपी सुविधा मिलेगी. प्रदेश सरकार ने भोपाल में स्टेट गेस्ट हाउस बनाने का प्लान तैयार किया है. सरकार राज्य के नये गेस्ट हाउस के लिए 64.75 करोड़ की राशि मंजूर करने जा रही है. प्रदेश सरकार बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए 5700 करोड़ रुपए खर्च करेगी. ये राशि केंद्र मिली राहत राशि के अलावा राज्य के बजट से खर्च होगी.

राज्य के सप्लीमेंट्री बजट में शामिल अहम बिंदु -
>> बाढ़ पीड़ितों को राहत के लिए 5700 करोड़
>> आपदा राहत निधि के लिए 1065 करोड़
>> राष्ट्रीय आपदा राहत के तौर पर 6600 करोड़
>> इंदिरा गृह ज्योति योजना के लिए 1500 करोड़


>> कर्मचारी आयोग के लिए 45.51 लाख रुपए
>> होमगार्ड और नागरिक सुरक्षा सेवाओं के लिए 70 करोड़
>> अपराधों से जुड़े मामलों पर शोध के लिए 13 करोड़
>> निकाय चुनावों के लिए 30 करोड़
>> इंदौर-मनमाड़ रेल परियोजना के लिए 368 करोड़
>> बायोमेडिकल वेस्ट के निपटारे के लिए 11.95 करोड़
>> राज्यस्तरीय रोगी सहायता कोष के लिए 60 करोड़
>> दीनदयाल रसोई घर योजना के लिए 10 करोड़
>> स्मार्ट सिटी योजना के लिए 225 करोड़
>> उज्जैन स्मार्ट सिटी के लिए आठ करोड़
>> छिंदवाड़ा सिंचाई कॉम्प्लेक्स परियोजना के लिए 800 करोड़
>> जबलपुर में स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट के लिए 20 करोड़ रु
>> नर्मदा अर्धकुंभ नई योजना के लिए दो करोड़
>> पंचायती राज संस्थाओं के शिक्षकों के वेतन-भत्तों के लिए 420.20 करोड़
>> मुख्यमंत्री कन्या निकाह योजना के लिए 5 करोड़

ये भी पढ़ें -
MCU के 3 छात्रों का निष्कासन रद्द, सभी 23 छात्र परीक्षा में बैठ सकेंगे बशर्ते...
शिवराज सिंह के आरोप पर CM कमलनाथ का जवाब-चिंता न करें हम कच्चा चिट्ठा खोलेंगे...
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज