लाइव टीवी

अयोध्या पर फैसले से पहले रामजन्भूमि न्यास के महंत सीताराम दास ने की ये अपील

News18 Madhya Pradesh
Updated: November 8, 2019, 6:54 PM IST
अयोध्या पर फैसले से पहले रामजन्भूमि न्यास के महंत सीताराम दास ने की ये अपील
अयोध्या विवाद से पहले महंत रामदास ने की अपील

महंत सीताराम दास (mahant sitaram das) ने नेताओं से अपील की कि वो राम के नाम पर जनता को गुमराह नहीं करें. उन्होंने याद दिलाया कि निर्मोही अखाड़ा राम जन्मभूमि के लिए 500 साल से लडाई लड़ता चला आ रहा है. (nirmohi akhada))

  • Share this:
टीकमगढ़. राम मंदिर-बाबरी मस्जिद विवाद (Ram Mandir-Babri Masjid Dispute) पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का फैसला आने वाला है. उससे पहले सभी धर्मों के धर्मगुरु लोगों से शांति बनाए रखने की अपील कर रहे हैं. निर्मोही अखाड़े (nirmohi akhada) के राष्ट्रीय प्रवक्ता महंत सीताराम दास (mahant sitaram das) ने लोगों से अपील की है कि सभी कोर्ट के फैसले का सम्मान करें. उन्होंने कहा, हम सभी को देश के संविधान और न्याय व्यवस्था पर भरोसा करना चाहिए और सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला आए उसका सम्मान करना चाहिए.

न्यायपालिका पर विश्वास
रामजन्म भूमि विवाद पर फैसले का लोगों को इंतजार है. सभी राज्यों में एलर्ट भी जारी किया गया है. सभी जगह सुरक्षा बढ़ा दी गई है. निर्मोही अखाड़े के प्रवक्ता और रामजन्म भूमि न्यास के मुख्य पक्षकार महंत सीताराम दास टीकमगढ़ में हैं. उन्होंने अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से पहले कहा,देश के सभी धर्म के लोगों को सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करना चाहिए. चाहें वो किसी के भी पक्ष में हो. हमें देश की न्यायपालिका पर पूरा विश्वास है.
नेताओं से अपील

महंत सीताराम दास ने नेताओं से अपील की कि वो राम के नाम पर जनता को गुमराह नहीं करें. उन्होंने याद दिलाया कि निर्मोही अखाड़ा राम जन्मभूमि के लिए 500 साल से लडाई लड़ता चला आ रहा है.निर्मोही अखाडा ने ही रामजन्म भूमि के लिए संर्घष किया है. (टीकमगढ़ से राजीव रावत की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें-MP विधानसभा में 41% MLA दागी? 'तुम्हारी कमीज पर ज्यादा दाग' पर उलझे नेता

20-50 के फॉर्मूले में पास हो गए MP के IAS अफसर, किसी को नहीं भेजा जाएगा घर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए टीकमगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 8, 2019, 6:49 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...