लाइव टीवी

अवैध संबंधों के कारण हुई थी मयंक की हत्‍या, पुलिस ने 11 लोगों को किया गिरफ्तार

Rajiv Rawat | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 9, 2019, 10:54 PM IST
अवैध संबंधों के कारण हुई थी मयंक की हत्‍या, पुलिस ने 11 लोगों को किया गिरफ्तार
मयंक खरे हत्‍याकांड का पुलिस ने किया खुलासा.

अवैध संबंधों (Illegal Relations) के चलते अपने दोस्‍त मयंक खरे (Mayank Khare) को मौत के घाट उतारने वाले मुख्य आरोपी इशाक खान और इकबाल खान (Ishaq Khan and Iqbal Khan) के साथ टीकमगढ़ पुलिस ने उन 9 आरोपियों को भी गिरफ्तार किया जो इस घटना में किसी ना किसी रूप में शामिल थे.

  • Share this:
टीकमगढ़. मध्‍य प्रदेश के टीकमगढ़ में अवैध संबंधों (Illegal Relations) के चलते दोस्त द्वारा दोस्‍त की हत्‍या के मामले का सनसनीखेज खुलासा पुलिस ने किया है. वैसे इस हत्‍याकांड ने पुलिस की नींद उड़ा दी थी. जबकि पुलिस ने मयंक खरे (Mayank Khare) हत्‍याकांड के मुख्य आरोपी इशाक खान और इकबाल खान (Ishaq Khan and Iqbal Khan) के साथ उन 9 आरोपियों को भी गिरफ्तार किया जो इस घटना में किसी ना किसी रूप में शामिल थे. आपको बता दें कि यह हत्‍याकांड टीकमगढ़ पुलिस (Tikamgarh Police) के जिए नासूर बन गया था. पिछली 25 सितंबर को मयंक खरे गायब हो गया था. वह अपने घर से निकला था लेकिन आज तक घर नहीं पहुंचा. जबकि घर पहुंची तो मयंक के हत्या होने की सूचना.

ऐसे हुई थी हत्‍या
टीकमगढ़ के चकरा तिराहे के पास नर्सिग कालोनी में मयंक खरे और उसका दोस्त इशाक भी रहता था. दोनों में कई दिनों से पारिवारिक संबंधे थे और मयंक का इशाक के घर आना जाना भी रहता था. इसी दौरान मयंक की दोस्ती इशाक की नाबालिंग भतीजी से हो गई. इसके बाद दोनों के अवैध संबंध भी बन गए. जब इस बात का पता इशाक को चला तो उसने मना किया और दूर रहने के लिए कहा, लेकिन मयंक नहीं माना. इसी बात को लेकर एक दिन इशाक ने अपने भाई इकबाल के साथ मिलकर मयंक की हत्या करने की साजिश रची.

इशाक ने मयंक को पार्टी करने के बहाने बुलाया और उसे गाडी में बैठाकर अपने साथ और बिलगांय ले गया. इसके बाद इन लोगों ने शराब पी. जबकि साजिश के तौर पर इशाक और इकबाल ने मयंक की शराब में नीद की गोली मिला दी. जब वह बेहोश हों गया तो फिर उसे गाड़ी में बैठा लिया. फिर इशाक ने अपनी लाईसेंसी बंदूक से मयंक को कार में गोली मारी जो उसके कंधे में लगी. इसके बाद इशाक और इकबाल ने मंयक का गला दबा कर हत्‍या कर दी. जबकि हत्‍या करने के बाद लाश को धसान नदी में फेंक दिया था.

एसपी ने किया ये काम
जबकि टीकमगढ़ के एसपी अनुराग सुजानिया ने मयंक खरे की हत्या की गुत्‍थी सुलझाने के लिए जिले के कई अधिकारियों को लगा दिया था. हालांकि शुरुआत में पुलिस को काफी परेशानी हुई क्‍योंकि इशाक और इकबाल शातिर अंदाज में अपना मोबाइल घर छोड़ गए थे, ताकि पुलिस लोकेशन ट्रेस ना कर सके. लेकिन जब पुलिस ने मंयक के दोस्तों से साथ पूछताछ की और यह देखा की वह कहां जाता था और उसे आखरी बार किस के साथ देखा गया था. इस कवायद के बाद इशाक और इकबाल पकड़ में आए.
बहरहाल, पुलिस ने गाड़ी और बदूंक जप्त करने के अलावा उन 9 आरोपियों गिरफ्तार किया जिन्‍होंने इस घटना में इशाक और इकबाल का साथ दिया था. जबकि पुलिस ने इकबाल की बहन और उसके जीजा को भी गिफ्तार किया, जिन्‍होंने उसे (इकबाल) को घर रखा था. हालांकि पुलिस अभी तक मयंक की लाश नहीं तलाश पायी है.
Loading...

ये भी पढ़ें-

महिला अपराधों पर लगाम के लिए MP पुलिस की नई 'गाइडलाइन', समय पर जांच पूरी नहीं हुई तो अधिकारियों पर गिरेगी गाज

सलमान खुर्शीद के बाद सिंधिया ने भी कांग्रेस को दी नसीहत, बोले- ये काम करने पर ही मिलेगी जीत!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए टीकमगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 9, 2019, 10:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...