• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • Modi Cabinet Expension: सादगी-सरलता का नाम हैं डॉ वीरेन्द्र कुमार, स्कूटर से करते हैं सफर

Modi Cabinet Expension: सादगी-सरलता का नाम हैं डॉ वीरेन्द्र कुमार, स्कूटर से करते हैं सफर

डॉ वीरेन्द्र कुमार लगातार 7 बार से सांसद हैं. इस वक्त वो एमपी की टीकमगढ़ सीट का प्रतिनिधिथ्व कर रहे हैं.

डॉ वीरेन्द्र कुमार लगातार 7 बार से सांसद हैं. इस वक्त वो एमपी की टीकमगढ़ सीट का प्रतिनिधिथ्व कर रहे हैं.

Modi Cabinet Expension - Tikamgarh से सांसद वीरेंद्र ने 1982 में भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ता के रूप में अपने इस राजनीतिक करियर की शुरुआत की थी. इस दौरान उन्होंने स्थानीय राज्य और राष्ट्रीय कार्यक्रमों और आंदोलन में शामिल हुए. संगठन से मिली तमाम जिम्मेदारियां भी इस दौरान डॉ वीरेन्द्र ने निभाई.

  • Share this:
टीकमगढ़. मोदी कैबिनेट (Modi Cabinet Expension) में मध्य प्रदेश को डबल प्रतिनिधित्व मिल रहा है. ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ टीकमगढ़ के सांसद डॉ वीरेन्द्र कुमार (Dr Virendra) भी मंत्रिमंडल में दूसरा चेहरा होंगे. वो दूसरी बार मोदी मंत्रिमंडल में शामिल किये जा रहे हैं.

डॉक्टर वीरेंद्र 7 बार सांसद रह चुके हैं. वो पिछली मोदी सरकार में राज्यमंत्री रह चुके हैं. वो जनता की समस्या जन चौपाल के माध्यम से कार्यकुशलता के लिए जाने जाते हैं. डॉ वीरेंद्र को इस बार 17 वीं लोकसभा का प्रोटेम स्पीकर बनाया गया था. वो अपने सरल स्वभाव और अपनी सादगी के लिए हमेशा पहचाने जाते हैं.



लाइम लाइट से दूर
डॉ वीरेंद्र दूसरे नेताओं से अलग हटके लाइमलाइट में रहने की वजह तामझाम से दूर रहते हैं. यही वजह है कि मंत्री रहते हुए भी वे अक्सर अपने पुराने स्कूटर पर सागर में घूमते दिख जाते थे. सागर में जन्मे वीरेंद्र का बचपन बेहद तंगहाली में गुजरा. शायद यही वजह है कि केंद्रीय मंत्री के पद तक पहुंचने के बाद भी वे दूसरे नेताओं की तरह तामझाम से दूर नजर आते हैं. टीकमगढ़ से सांसद वीरेंद्र 7 बार से लगातार सांसद हैं. उन्होंने अपना राजनीतिक सफर छात्र राजनीति से शुरू किया था.

एक नजर राजनीतिक सफर पर 
डॉ वीरेन्द्र 1996 में पहली बार सागर मध्य प्रदेश से सांसद निर्वाचित हुए. फिर उसके बाद 1998 सागर मध्य प्रदेश से फिर सांसद बने. 1999 में पुनःतीसरी बार 13 वीं लोकसभा में वो पहुंचे.2004 में चौथी बार सांसद के रूप में चुने गए.

वर्ष 2009 से 2014 टीकमगढ़ मध्य प्रदेश संसदीय क्षेत्र से सांसद के रूप में निर्वाचित हुए.

वर्ष 2014 में इसी टीकमगढ़ सीट से वो पुनःसांसद निर्वाचित हुए. छठवीं बार 16 वीं लोकसभा के लिए चुने गए.

3 सितंबर 2017 को केंद्रीय राज्यमंत्री महिला एवं बाल विकास अल्पसंख्यक कार्य विभाग के मंत्री बने

मार्च 2019 में टीकमगढ़ मध्य प्रदेश से 7 वीं बार डॉ वीरेंद्र 17 वीं लोकसभा के लिए सांसद के रूप में चुने गए.
कार्यकर्ता से मंत्री तक
Tikamgarh से सांसद वीरेंद्र ने 1982 में भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ता के रूप में अपने इस राजनीतिक करियर की शुरुआत की थी. इस दौरान उन्होंने स्थानीय राज्य और राष्ट्रीय कार्यक्रमों और आंदोलन में शामिल हुए. संगठन से मिली तमाम जिम्मेदारियां भी इस दौरान डॉ वीरेन्द्र ने निभायीं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन