आचार संहिता : महाकाल मंदिर में भस्‍म आरती की वीआईपी परमिशन बंद

विधानसभा चुनाव के लिए आचार संहिता लागू हुई तो उज्जैन कलेक्टर मनीष सिंह ने आदेश जारी किया है कि जब तक आचार संहिता लगी है, तब तक किसी भी जनप्रतिनिधि के लेटरहेड के आधार पर भस्म आरती की वीआईपी परमिशन नहीं दी जा सकती.

Anand Nigam | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 11, 2018, 7:51 PM IST
आचार संहिता : महाकाल मंदिर में भस्‍म आरती की वीआईपी परमिशन बंद
महाकाल मंदिर, उज्‍जैन.
Anand Nigam | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 11, 2018, 7:51 PM IST
मध्‍यप्रदेश विधानसभा चुनाव की आचार संहिता का असर अब बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक महाकाल मंदिर की व्यस्थाओं पर भी पड़ा है. आचार संहिता के चलते उज्जैन कलेक्टर के आदेश के बाद नेताओं और उनके कार्यकर्ताओं को मिलने भस्म आरती की वीआईपी परमिशन नहीं मिलेगी.

उज्जैन के विश्वप्रसिद्ध महाकाल मंदिर में होने वाली भस्म आरती देखने और उसमें सम्मिलित होने के लिए दूर-दूर से श्रद्धालु उज्जैन पहुंचते हैं. आरती में 1800 से ज्यादा श्रद्धालु सम्मिलित नहीं हो सकते. इस कारण कई श्रद्धालु वीआईपी के प्रोटोकॉल से आते हैं. इसमें सांसद, विधायक और अन्‍य जनप्रतिनिधि के लेटरहेड के आधार पर महाकाल मंदिर प्रशासन भस्‍म आरती में शामिल होने के लिए वीआईपी परमिशन जारी करता था.

अब जब विधानसभा चुनाव के लिए आचार संहिता लागू हुई तो उज्जैन कलेक्टर मनीष सिंह ने आदेश जारी किया है कि जब तक आचार संहिता लगी है, तब तक किसी भी जनप्रतिनिधि के लेटरहेड के आधार पर भस्म आरती की वीआईपी परमिशन नहीं दी जा सकती.

यह भी देखें- VIDEO : ग्राउंड रिपोर्ट : महाकाल की नगरी में प्रदूषण है बड़ी समस्या

यह भी पढ़ें- बोहरा समाज के धर्म गुरु ने महाकाल मंदिर के लिए दिया 25 लाख का दान
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर