अपना शहर चुनें

States

VIDEO : मिलावट के खिलाफ अभियान : नागदा में महिला अधिकारी का धक्का-मुक्की, हाथ पकड़कर खींचा

टीम तीन जगह सैंपलिंग के बाद चौधरी तेल व्यापारी के यहां पहुंची थी.यहां विवाद की स्थिति बनी. पूरे मामले में व्यपारी के खिलाफ धारा 353, 186 और 34 आईपीसी एक्ट में प्रकरण पंजीबद्ध किया गया है
टीम तीन जगह सैंपलिंग के बाद चौधरी तेल व्यापारी के यहां पहुंची थी.यहां विवाद की स्थिति बनी. पूरे मामले में व्यपारी के खिलाफ धारा 353, 186 और 34 आईपीसी एक्ट में प्रकरण पंजीबद्ध किया गया है

टीम तीन जगह सैंपलिंग के बाद चौधरी तेल व्यापारी के यहां पहुंची थी.यहां विवाद की स्थिति बनी. पूरे मामले में व्यपारी के खिलाफ धारा 353, 186 और 34 आईपीसी एक्ट में प्रकरण पंजीबद्ध किया गया है

  • Share this:
उज्जैन. उज्जैन ज़िले के नागदा (Nagda) में आज मिलावट (adulteration) की जांच के लिए गयी सरकारी टीम से व्यापारी दंपति ने धक्का-मुक्की और झूमाझटकी कर दी. व्यापारी की पत्नी ने टीम को काम करने से लगातार रोका और तीखी बहस की. टीम मिलावट के शक में उनकी फर्म पर तेल का सैंपल लेने गयी थी. लेकिन व्यापारी दंपति के आक्रामक होने के कारण जैसे-तैसे वहां से निकल पायी.

पूरे प्रदेश की तरह उज्जैन ज़िले में भी मिलावटखोरों, भू-माफिया और गुंडों के खिलाफ मुहिम चल रही है. इसी मुहिम के तहत नागदा में खाद्य सुरक्षा अधिकारी अलग अलग फर्मो में जाकर खुले रिफाइंड सोयबीन तेल की चैकिंग और सेंपलिंग कर रहे थे. टीम नागदा के चंद्र शेखर मार्ग स्थित  अशोक कुमार एंड कंपनी की तेल की दुकान पर पहुंची.यहां निरीक्षण के बाद सैंपल लिया जा रहा था. उसी दौरान व्यापारी आशीष  चौधरी और उनकी पत्नी रैना  चौधरी ने हंगामा काट दिया. दोनों टीम को कार्रवाई करने से रोकने लगे. व्यापारी की पत्नी बुरी तरह से चीख रही थीं. आरोप ये था कि बार-बार उन्हीं की फर्म पर कार्रवाई क्यों की जा रही है.

खुले में रखा था तेल
अशोक कुमार एंड कंपनी नाम की इस फर्म 1 हजार लीटर के ड्रम में रिफाइंड सोयाबीन तेल रखा था. टीम इसका सैंपल ले रही थी. लेकिन चौधरी दंपति ने फौरन उसे फेंक दिया. उसके बाद तो दोनों ने मिलकर हंगामा बरपा दिया. दंपति की पत्नी टीम में शामिल पुरुष अधिकारियों से भी चिल्ला-चिल्ला कर बात करती रहीं. दंपति का ये व्यवहार देखकर टीम बाहर निकलने लगी तो रैना चौधरी ने खाद्य सुरक्षा महिला अधिकारी दीपा टटवाड़े का हाथ पकड़ लिया और खींचने लगी. तहसीलदार आरके गुहा ने जैसे-तैसे महिला अधिकारी को बचाया और बाहर निकलकर थाने पहुंचे.
3 जगह कार्रवाई


टीम शहर में तीन जगह मिलावट खोरों के खिलाफ कार्रवाई करने गयी थी. चौधरी की ये फर्म चंद्रशेखर मार्ग पर है. यहां खुले में 1000 लीटर के ड्रम में रिफाइंड तेल रखा था. मिलावट की आशंका में टीम उसी का सैंपल ले रही थी. इस पर व्यापारी आशीष चौधरी ने आपत्ति जताई और कहा कि बार बार उनकी दुकान को क्यों टारगेट किया जाता है. अधिकारी ने जब उनकी बात नहीं सुनी तो व्यापारी की पत्नी रैना ने चिल्लाना शुरू कर दिया और तहसिलदार आरके गुहा से झुमाझटकी करने लगीं. टीम वहां से जान बचाकर निकली और पुलिस में शिकायत की. बाद में पुलिस मौके पर पहुंची और व्यापारी अशोक चौधरी को अपने साथ थाने ले गयी.

व्यापारी दंपति के खिलाफ केस दर्ज
नागदा थाना प्रभारी ने बताया कि टीम तीन जगह सैंपलिंग के बाद चौधरी तेल व्यापारी के यहां पहुंची थी.यहां विवाद की स्थिति बनी. पूरे मामले में व्यपारी के खिलाफ धारा 353, 186 और 34 आईपीसी एक्ट में प्रकरण पंजीबद्ध किया गया है. पूछ ताछ जारी है.टीम ने इस फर्म से पहले गोपाल ट्रेड्स पर से मिर्च के 2 सैंपल और मोहता मावा भंडार से घी का सैंपल लिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज