होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /चेन्‍नई से 10 लाख की चोरी करने वाले गिरोह को पुलिस ने 24 घंटे में दबोचा, रेलवे स्‍टेशन बना छावनी

चेन्‍नई से 10 लाख की चोरी करने वाले गिरोह को पुलिस ने 24 घंटे में दबोचा, रेलवे स्‍टेशन बना छावनी

24 घंटे में बदमाशों को पकड़ा.

24 घंटे में बदमाशों को पकड़ा.

उज्‍जैन पुलिस (Ujjain Police), आरपीएफ (RPF) और जीआरपी (GRP) की सक्रियता की वजह से चेन्‍नई से चोरी करने बाद राजस्थान लौट ...अधिक पढ़ें

    उज्‍जैन. मध्‍य प्रदेश की उज्जैन पुलिस (Ujjain Police) को बड़ी सफलता हाथ लगी है. चेन्नई से 10 लाख रुपए की कीमत के चोरी गया जेवरात को नागदा में चेन्नई-जयपुर ट्रेन (Chennai-Jaipur Train) से बरमाद साथ ही 6 आरोपियों को पकड़ने में भी पुलिस को सफलता मिली है. एसपी सचिन अतुलकर (SP Sachin Atulkar) की सूचना पर पुलिस ने रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर 2 को छावनी बना दिया था. इतने पुलिसकर्मी देख यात्रियों में हड़कंप मच गया था. मंडी, बिरलाग्राम, आरपीएफ और जीआरपी की संयुक्त कार्रवाई में राजस्थान गिरोह के 6 सदस्यों को पकड़ा. एएसपी प्रमोद सोनकर (ASP Pramod Sonkar) ने बताया कि गैंग को पकड़ने के बाद चेन्नई पुलिस को सूचना दी. जबकि पुलिस ने आरोपियों के पास से जब्त सामान से चोरी का माल बरामद किया. वहीं आज आरोपियों को पेश कर कोर्ट से रिमांड मांगेगी. इसके बाद आरोपियों को चेन्नई ले जाया जाएगा. आपको बता दें कि इस मामले का खुलासा करीब 24 घंटे में हो गया.

    ये था मामला

    20 सितंबर की शाम 5 बजे आरोपियों ने साउथ चेन्नई में रहने वाली कोमल वल्ली पति रमेश (40) व एक अन्य के यहां चोरी की थी. आरोपियों ने अलग-अलग भाग में बंटकर वारदात कर 60 हजार रुपए नकद और करीब 10 लाख रुपए कीमत के सोने-चांदी के जेवर चुराए. चोरी करने के बाद आरोपी लोकल का टिकट लेकर ट्रेन के रिजर्वेशन कोच नंबर एस-7 में अलग-अलग गुटों में बैठे थे. चेन्नई पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे चेक किए तो उसमें आरोपी राजस्थानी पोशाक में नजर आए थे, फिर वहां के वरिष्ठ अधिकारी मप्र और राजस्थान पुलिस अफसरों से संपर्क किया.

    यूं पकड़ में आए बदमाश
    एसपी अतुलकर ने चेन्नई-जयपुर एक्सप्रेस में संदिग्ध होने की सूचना दी, जिसमें 6 आरोपियों को पुलिस ने पकड़ा है और उनके पास से लाखों का माल भी जब्त किया गया है. आरोपियों में से कालु पिता जगदीश (18) भीलवाड़ा, तो बाकी अजमेर जिले के रामनिवास (30), रामरमिया (20), कैलाश (20), कालुराम (29) और गौरु (18) हैं. ये सभी रिजर्वेशन कोच नंबर एस-7 में अलग-अलग गुट में बैठे थे. जबकि सूचना के बाद आरपीएफ और जीआरपी के 50 से ज्यादा पुलिसकर्मियों ने ट्रेन की घेराबंदी कर कोच की तलाशी ली. इसमें एस-7 में अलग-अलग टुकड़ों में सात संदिग्ध पुलिस ने हिरासत में लिए. जबकि रात करीब 3 बजे तक पुलिस ने कागजी कार्रवाई पूरी करने के बाद चेन्नई पुलिस को खबर की.

    ये भी पढ़ें-BJP के हल्‍ला बोल कार्यक्रम के दौरान टूटा मंच, पूर्व गृह मंत्री, MP और विधायक के नीचे गिरने से मची अफरातफरी

    MP : बैतूल में खुला प्रदेश का पहला सेनेटरी पैड बैंक, पैडमैन ने बदली सोच

    Tags: Chennai, Indian railway, Madhya pradesh Police, RPF, Ujjain news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें