संकट के इस दौर में ड्यूटी से गायब ये मेडिकल स्टाफ, कलेक्टर ने दिया 24 घंटे का अल्टीमेटम

कलेक्टर आशीष सिंह ने कहा-संकट के इस दौर में सेवा के लिए लोग आगे आ रहे हैं. ऐसे में फ्रंट लाइन वर्कर ही जब बहाने बनाएंगे तो कैसे काम चलेगा.

कलेक्टर आशीष सिंह ने कहा-संकट के इस दौर में सेवा के लिए लोग आगे आ रहे हैं. ऐसे में फ्रंट लाइन वर्कर ही जब बहाने बनाएंगे तो कैसे काम चलेगा.

कलेक्टर आशीष सिंह ने कहा यदि चौबीस घंटे के भीतर ये कर्मचारियों ड्यूटी ज्वॉइन नहीं करते हैं तो उनके विरुद्ध महामारी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज करवाई जाएगी.

  • Share this:
उज्जैन. कोरोना संकट (Corona) के इस आपात समय में उज्जैन में 18 पुरुष और महिला नर्स (Nurse) ड्यूटी से गायब हैं. इन लोगों को ट्रेनिंग पूरी होने के बाद सर्विस ज्वाइन करना थी लेकिन कोई ड्यूटी पर नहीं पहुंचा. इन नर्सों को 24 घंटे के अंदर ड्यूटी ज्वॉइन करने का अल्टीमेटम दिया गया है. अगर उसके बाद भी ये नहीं आते हैं तो उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई के साथ FIR दर्ज करायी जाएगी.

उज्जैन में ट्रेनिंग पूरी कर 18 महिला पुरुष नर्सो को नौकरी ज्वाइन करना थी. लेकिन कोरोना महामारी के बाद बिगड़े हालातों से डरकर इन में से किसी ने भी सर्विस ज्वॉइन नहीं की. कई बार इन्हें सूचना दी गयी लेकिन लेकिन इन नर्सों ने आज तक माधव नगर अस्पताल  में ज्वाइन नहीं किया.

कलेक्टर की तीखी टिप्पणी

उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह ने सभी 18 नर्सो के खिलाफ नोटिस जारी कर 24 घंटे में माधव नगर अस्पताल में ज्वॉइन करने का आदेश दिया है. साथ ही आदेश में ये भी कहा कि संकट के इस दौर में सेवा के लिए लोग आगे आ रहे हैं. ऐसे में फ्रंट लाइन वर्कर ही जब बहाने बनाएंगे तो कैसे काम चलेगा.  अगर ये सभी अगले 24 घंटे में माधव नगर अस्पताल में अपनी नौकरी ज्वाइन नहीं करते हैं तो इनके खिलाफ  विभागीय कार्रवाई और महामारी एक्ट में  एफआईआर दर्ज की जाएगी.
कारण बताओ नोटिस

ये सभी जो अपने कर्तव्य से भाग रहे हैं उनकी  माधव नगर अस्पताल में जिला प्रशासन ने ड्यूटी लगायी है. कलेक्टर आशीष सिंह ने बताया कि इन सभी 18 नर्स को कारण बताओ नोटिस जारी करने के साथ ही चौबीस घंटे में ड्यूटी जॉइन करने का आदेश दिया गया है. यदि चौबीस घंटे के भीतर ये कर्मचारियों ड्यूटी ज्वॉइन नहीं करते हैं तो उनके विरूद्ध महामारी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज करवाई जाएगी.

ये है लिस्ट



जिन नर्सों ने ड्यूटी ज्वॉइन नहीं की उनमें नेहा टाक, अनिल वर्मा, अंजू मालवीय, अशोक कराड़ा, अशोक यादव, गोविन्द राजपूत, जया खेरवार, ज्योति चौहान, ज्योति पंवार, कृष्णपाल सिंह, कमल बादल, शाहरूख खान, माधुरी व्यास, सुष्मिता सोलंकी, उमा सागर, अक्षय त्रिवेदी, रचना परमार और सरिता बचले शामिल हैं.



सख्ती के मूड में कलेक्टर

उज्जैन के माधव नगर कोविड अस्पताल में अभी हालत ये है कि यहां कुल 130 बेड की व्यवस्था है. लेकिन मरीजों की संख्या 145 तक पहुंच गयी है. इसके अलावा वे मरीज अलग हैं जो अस्पताल के बाहर अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं. पूरा अस्पताल इस समय मरीजों से पटा पड़ा है. अस्पताल के डॉक्टर और नर्सिंग स्टाफ के अलावा अन्य स्टाफ मुस्तैदी से मरीजों की जान बचाने में लगा है. लेकिन नयी पदस्थापना वाले नर्स ड्यूटी से गायब हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज