VIDEO: महाकाल मंदिर में चिल्‍लाने लगा शख्‍स- मैं विकास दुबे हूं कानपुर वाला, उसके बाद...
Ujjain News in Hindi

VIDEO: महाकाल मंदिर में चिल्‍लाने लगा शख्‍स- मैं विकास दुबे हूं कानपुर वाला, उसके बाद...
UJJAIN : UP का मोस्ट वॉन्टेड अपराधी विकास दुबे उज्जैन में गिरफ्तार

Kanpur Encounter: मध्‍य प्रदेश के डीजीपी (DGP) और इंटेलिजेंस (ADG) उज्जैन पुलिस (POLICE) के संपर्क में है.

  • Share this:
उज्जैन. उज्जैन (ujjain) से एक बड़ी खबर मिल रही है. यूपी का मोस्ट वॉन्टेड अपराधी विकास दुबे उज्जैन में गिरफ्तार कर लिया गया है. इससे पहले यहां थाने पहुंचकर एक व्यक्ति खुद को यूपी का मोस्ट वांटेड अपराधी विकास दुबे बताने लगा. बताया जा रहा है कि महाकाल मंदिर परिसर में पहुंच कर यह शख्स चिल्ला-चिल्ला कर ख़ुद को विकास दुबे बता रहा था. उसे फौरन मंदिर परिसर में तैनात सुरक्षा गार्ड ने पकड़ लिया और पुलिस को इसकी सूचना दी. जिसके बाद महाकाल थाना पुलिस उसे गाड़ी मे बैठाकर कंट्रोल रूम की तरफ रवाना हो गयी. पुलिस ने जब शख्‍स को पकडा तो चिल्‍लाने लगा- मैं विकास दुबे हूं कानपुर वाला.

सूत्रों के हवाले से खबर महाकाल मंदिर में तैनात होमगार्ड के जवान ने दर्शन करने आए विकास दुबे को देखा था. होमगार्ड के जवाब में जवान ने यह जानकारी प्लाटून कमांडर रूबी यादव को दी. रूबी यादव ने एसपी को जानकारी दी. इसके बाद विकास दुबे को पकड़ा गया. उज्जैन के एक तिवारी नामक शख्स के सम्पर्क में था विकास दुबे. तिवारी के माध्यम ही वो उज्जैन पहुंचा. वहीं गिरफ़्तारी के बाद यूपी पुलिस को इसकी जानकारी दी गई. उसकी गिरफ़्तारी की एक फोटो भी यूपी पुलिस के पास भेजी गई, जिसके बाद पुष्टि हुई की वही विकास दुबे है.


बड़ा सवाल: आखिर उज्जैन कैसे पहुंचा विकास दुबे?
बुधवार को फरीदाबाद और एनसीआर में लोकेशन मिलने के बाद आखिर वह उज्जैन कैसे पहुंचा यह बड़ा सवाल है. हालांकि अब उज्जैन पुलिस उससे पूछताछ कर रही है. यूपी पुलिस के पहुंचते ही उसकी ट्रांजिट रिमांड की कार्रवाई की जाएगी. उम्मीद है थोड़ी देर में ही उज्जैन पुलिस इसका खुलासा करेगी कि वह यहां कैसे पहुंचा.



विकास दुबे के दो और करीबी साथियों को यूपी एसटीएफ ने गुरुवार को मार गिराया

बता दें कि कानपुर कांड  के मास्टरमाइंड विकास दुबे का साम्राज्य एक-एक कर ढहता जा रहा है. आठ पुलिसकर्मियों की शहादत मामले में आरोपी विकास दुबे के दो और करीबी साथियों को यूपी एसटीएफ ने गुरुवार को मार गिराया. कानपुर में एसटीएफ दरोगा की पिस्टल छीनकर भाग रहे प्रभात मिश्रा उर्फ़ कार्तिकेय को पुलिस ने ढेर किया तो उधर इटावा में पुलिस ने उसके तीसरे साथ प्रवीण उर्फ़ बव्वन दुबे को पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया. बव्वन पर 50 हजार का इनाम घोषित था और उसके खिलाफ विकरू गांव में पुलिस टीम पर हुए हमले में शामिल होने के आरोप में चौबेपुर थाने में केस भी दर्ज था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading