मकर संक्रांतिः श्रद्धालुओं ने शिप्रा नदी में लगाई आस्था की डुबकी

आज देश भर में मकर संक्राति की धूम है. मकर संक्रांति पर्व के अवसर पर आज देश की सभी पवित्र नदियों में श्रद्धालु स्नान कर रहे है. मान्यता है कि मकर संक्रांति के दिन स्नान और दान करने से सभी पापों से मुक्ति मिलती है. उज्जैन की शिप्रा नदी में आज हजारों श्रद्धालु आस्था डुबकी लगा रहे हैं. उज्जैन नगर निगम ने शिप्रा नदी में श्रद्धालुओं के स्नान की व्यवस्था की हैं.

ETV MP/Chhattisgarh
Updated: January 14, 2018, 10:27 AM IST
मकर संक्रांतिः श्रद्धालुओं ने शिप्रा नदी में लगाई आस्था की डुबकी
उज्जैन में शिप्रा नदी में स्नान करते श्रद्धालु.
ETV MP/Chhattisgarh
Updated: January 14, 2018, 10:27 AM IST
आज देश भर में मकर संक्राति की धूम है. मकर संक्रांति पर्व के अवसर पर आज देश की सभी पवित्र नदियों में श्रद्धालु स्नान कर रहे है. मान्यता है कि मकर संक्रांति के दिन स्नान और दान करने से सभी पापों से मुक्ति मिलती है. उज्जैन की शिप्रा नदी में हजारों श्रद्धालु डुबकी लगाई. उज्जैन नगर निगम ने शिप्रा नदी में श्रद्धालुओं के स्नान की व्यवस्था की हैं.

धर्म और आस्था के इस त्यौहार पर लोग दान पूण्य करने में भी पीछे नहीं हैं. उज्जैन की पवित्र शिप्रा नदी में सुबह से ही स्नान करने के लिए श्रद्धालु आ रहे हैं, लेकिन कड़ाके की ठण्ड के कारण स्नान करने वाले श्राद्धालुओं की संख्या में कमी दिखाई दे रही है.

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार तिल के साथ स्नान करने और तिल दान करने से दुखों से मुक्ति मिलती हैं. आज के दिन महिलाएं अपने पति की लम्बी आयु के लिए सुहाग की सामग्री दान करती हैं. पंडित राकेश जोशी का कहना है की आज के दिन उज्जैन की शिप्रा नदी ने स्नान दान करने से सभी तीर्थ स्थलों का लाभ प्राप्त होता है और घर में सुख शांति बनी रहती है और रोग दोष से मुक्ति मिलती है.

उज्जैन नगर निगम द्वारा स्नान करने आए श्रद्धालुओं के लिए शिप्रा नदी के किनारे बने घाटों पर हर प्रकार की व्यवस्था की गई है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर