ये है जैन परिवार, Corona ने एक हफ्ते में कर दिया खत्म, घर की सुरक्षा के लिए रिश्तेदारों ने बैठाया गार्ड

कुछ दिन पहले की तस्वीर परिवार की खुशियां बयां कर रही है.

कुछ दिन पहले की तस्वीर परिवार की खुशियां बयां कर रही है.

Killer Corona: महाकाल की नगरी उज्जैन शोक में है. यहां के जैन परिवार को महामारी ने निगल लिया. घर में सभी की मौत हो चुकी है. रिश्तेदारों ने विवाहित बेटी को नीदरलैंड फोन कर जानकारी दे दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 23, 2021, 3:37 PM IST
  • Share this:
उज्जैन. उज्जैन शहर से दुख भरी खबर है. यहां कोरोना एक हफ्ते में पूरा परिवार लील गया. पहले दादा, फिर मां, फिर पिता और फिर परिवार में आखिरी बची बेटी की भी मौत हो गई. खबर सुनकर पूरा शहर सकते में है.

कोरोना ने ये कोहराम आदर्श विक्रमनगर में रहने वाले जैन परिवार में मचाया. घर के बड़े सदस्य संतोष कुमार जैन, उनकी पत्नी मंजुला और उनकी 26 साल की बेटी आयुषी कोरोना की वजह से एक हफ्ते में दुनिया छोड़ गए. अब घर की देखरेख तक करने वाला कोई नहीं बचा. रिश्तेदारों ने नीदरलैंड में रह रही उनकी बेटी को सूचना दे दी है और घर के बाहर गार्ड तैनात कर दिया है.

Youtube Video


ससुर की मौत के 7 दिन बाद बहु चल बसी
जानकारी के मुताबिक 3 अप्रैल को सतोष कुमा जैन के पिता का देवास में निधन हो गया. वहां से आने के बाद 8 अप्रैल को उनकी पत्नी मंजुला जैन को बुखार आया. जांच कराने पर रिपोर्ट पॉजिटिव आई. उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया लेकिन दो दिन बाद 10 अप्रैल को मंजुला का निधन हो गया. उनके अंतिम संस्कार के बाद संतोष जैन की तबीयत खराब हुई.

धीरे-धीरे सब उजड़ गया

इसके बाद संतोष और बेटी आयुषी ने सैंपल दिया तो पॉजिटिव निकले. जैन को यहीं निजी अस्पताल में जगह मिल गई, जबकि बेटी को देवास के अस्पताल में भर्ती किया गया. इस बीच 16 अप्रैल को जैन का निधन हो गया और 19 अप्रैल को आयुषी ने भी दम तोड़ दिया. तीनों का अंतिम संस्कार कोरोना प्रोटोकॉल के तहत प्रशासन ने किया.



नीदरलैंड में रहती है एक बेटी

संतोष कुमार जैन बिजली कंपनी से कुछ समय पहले ही सेवानिवृत्त हुए थे. जबकि उनकी पत्नी मंजुला हरिफाटक क्षेत्र में स्थित शासकीय स्कूल में शिक्षिका थीं. परिचितों ने बताया कि जैन दंपती की दो बेटियां हैं. एक शादी के बाद नीदरलैंड में रहती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज