चमत्कार! उज्जैन में खुदाई के दौरान मिला 1 हजार साल पुराना मंदिर, देखने के लिए लोगों की लगी भीड़

महाकाल मंदिर के पास खुदाई में मिला हजार साल पुराना मंदिर.

महाकाल मंदिर के पास खुदाई में मिला हजार साल पुराना मंदिर.

उज्जैन में जो हुआ उसे चमत्कार कहा जा सकता है. यहां इतनी बार खुदाई की गई, लेकिन कभी कुछ नहीं मिला. लेकिन अब जब 1000 साल पुराना मंदिर मिला है, तो कहा जा सकता है कि महाकाल की इस नगरी के नीचे बहुत कुछ और भी होगा.

  • Last Updated: December 19, 2020, 5:58 PM IST
  • Share this:
उज्जैन: महाकाल की नगरी उज्जैन में शनिवार को कोई चमत्कार तो नहीं हुआ, लेकिन जो हुआ वो किसी चमत्कार से कम भी नहीं था. यहां पिछले एक साल से महाकाल मंदिर का विस्तारीकरण चल रहा है, जिसका काम आज अचानक रोक दिया गया. क्योंकि, खुदाई के दौरान यहां मिला 1000 साल पुराना मंदिर. मंदिर की दीवारों और पत्थरों पर बाकायदा नक्काशी की हुई है. सूचना मिलते ही पुरातत्व विभाग सहित कई विभागों के अधिकार मौके पर पहुंच गए.

पुरातत्व विभाग के अधिकारी रमण सोलंकी ने बताया कि महाकाल मंदिर के विस्तारीकरण के लिए स्मार्ट सिटी द्वारा की जा रही खुदाई के दौरान कुछ महत्वपूर्व अवशेष निकले हैं. एसा पहली बार हुआ है जब इस तरह के अवशेष हमें मिले हैं. इस प्रकार का स्ट्रक्चर हमें कभी नहीं मिला.

परमार शासन काल का है मंदिर

यह पहली बार ही है कि खुदाई के दौरान हमें यहां 1000 वर्ष पुराना मंदिर मिला है. जब हम इसकी पूरी खुदाई कर लेंगे तब हुमी मंदिर का आकार मिलने की संभावना है. यह सारे साक्ष्य हमें इल्तुतमिश के आक्रमण के समय के दिखाई दे रहे हैं. मंदिर को तोड़कर उस पर भराव करने के साक्ष्य स्पष्ट देखे जा सकते हैं. यह मंदिर परमार शासन काल का है, जो 1000 साल पुराना है.
एक साल से चल रहा है सौंदर्यीकरण का काम

गौरतलब है कि 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर का विस्तारीकरण का काम पिछले 1 साल से लगातार जारी है.  यहां सर्व सुविधा युक्त पार्किंग, शौचालय सहित कई सौंदर्यीकरण किये जाने हैं. यहां कॉम्पलेक्स सहित बहुत कुछ बनाया जाना है. आज भी महाकाल मंदिर के मुख्य द्वार पर ही खुदाई चल रही थी, जिसे रोक दिया गया. खुदाई में पुराना मंदिर मिलने की सूचना आग की तरह शहर में फैल गई और फिर लोग उसे देखने आने लगे. इस दौरान इलाके में भारी भीड़ जमा हो गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज