दबंगों ने सार्वजनिक शौचालयों पर ताले जड़ बना लिए पर्सनल टॉयलेट
Ujjain News in Hindi

दबंगों ने सार्वजनिक शौचालयों पर ताले जड़ बना लिए पर्सनल टॉयलेट
एमपी में जहां कुछ जिले पूरी तरह खुले में शौच मुक्त हो गए हैं, तो कुछ ऐसे जिले भी हैं, जहां दबंगों ने सार्वजनिक शौचालयों पर ताले जड़कर उन्हें पर्सनल टॉयलेट बना लिया है.

एमपी में जहां कुछ जिले पूरी तरह खुले में शौच मुक्त हो गए हैं, तो कुछ ऐसे जिले भी हैं, जहां दबंगों ने सार्वजनिक शौचालयों पर ताले जड़कर उन्हें पर्सनल टॉयलेट बना लिया है.

  • Share this:
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान के तहत देशभर में सार्वजनिक शौचालयों का निर्माण कर लोगों को खुले में शौच से रोका जा रहा है. एमपी में जहां कुछ जिले पूरी तरह खुले में शौच मुक्त हो गए हैं, तो कुछ ऐसे जिले भी हैं, जहां दबंगों ने सार्वजनिक शौचालयों पर ताले जड़कर उन्हें पर्सनल टॉयलेट बना लिया है.

ये पूरा मामला आगर मालवा के सुसनेर का है, जहां पर लाखों रुपए की राशि से आम नागरिकों की सुविधा के लिए बने सार्वजनिक शौचालयों पर दबंगों ने ताले लगा दिए हैं. ऐसे में गरीब और अन्य लोग खुले में ही शौच जा रहे हैं, जिससे वार्ड में गंदगी का आलम है.

जब कथित दबंगों से इसका कारण जाना गया तो उन्होंने बताया कि इन सार्वजनिक शौचालयों की नगर परिषद के जरिए नियमित साफ सफाई नहीं की जाती है, साथ ही यहां पानी की भी कमी है. इस स्थिति में यदि सभी लोग इनका उपयोग करते हैं तो वो इतने गंदे हो जाते हैं कि कोई उसमें घुस भी नहीं सकता. इस स्थिति से बचने के लिए ही शौचालयों पर ताले लगा दिए हैं.



इस मामले में जिम्मेदारों से जब सवाल किए गए तो उन्होंने सभी आरोपों को गलत बताया. उनकी मानें तो शौचालयों की लगातार सफाई की जाती है, साथ ही उनमें टंकी भी है, जिसमें हमेशा पानी रहता है. वहीं शौचालयों पर ताले लगाए जाने की बात पर अधिकारियों ने इस मामले की जानकारी नहीं होने की बात कही.
गौरतलब है कि करीब दस महीने पहले भी सुसनेर में दबंगों ने सार्वजनिक शौचालयों पर ताले लगा दिए थे. मामला मीडिया में आने और मंत्री के आदेश दिए जाने पर इन तालों को तोड़ा गया था. लेकिन निगरानी न रखने और दोषियों पर कार्रवाई नहीं होने के कारण एक बार फिर इन शौचालयों पर ताले जड़ दिए गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading