उज्जैन में होटल का बचा अवैध हिस्सा भी विस्फोटक से उड़ाया गया

उज्जैन में शांति पैलेस होटल का अंतिम और बड़ा अवैध हिस्सा भी आज विस्फोट करके उड़ा दिया गया.

Anand Nigam | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 4, 2019, 8:02 PM IST
Anand Nigam | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 4, 2019, 8:02 PM IST
उज्जैन में शांति पैलेस होटल का अंतिम और बड़ा अवैध हिस्सा भी आज विस्फोट करके उड़ा दिया गया. विस्फोट से पल भर में करोड़ों रुपए की लक्जरी होटल मलबे में तब्दील हो गई. चार दिन से होटल के
इस बड़े हिस्से को गिराने के लिए टीम लगी हुई थी. आज शाम 5 बजकर 20 पर होटल के बड़े भाग को विस्फोटक से ढाह दिया गया. बता दें कि 2004 में अवैध रूप से शांति पैलेस होटल के एक हिस्से का निर्माण किया गया था. इसके बाद यहीं खाली पड़ी जमीन पर 2013 में शांति पैलेस क्लार्क होटल का भी निर्माण किया गया.

रेसिडेंशियल भूमि पर अवैध होटल 
दरअसल शांति पैलेस होटल का निर्माण उसके मालिक ने निगम के अधिकारियों के साथ सांठगांठ करके गृह निर्माण संस्था की खरीदी हुई रेसिडेंशियल भूमि पर किया था. लेकिन आज गुरुवार को उज्जैन के इस शांति पैलेस होटल को नगर निगम के अमले ने हाईकोर्ट निर्देश के बाद विस्फोटक के जरिए पूरी तरह से धराशायी कर दिया.

कोर्ट में चल रहा था केस
बता दें कि यह मामला काफी समय से कोर्ट में लंबित था. कोर्ट के आदेश पर ही 1 लाख वर्ग फीट जमीन पर बनी होटल को गिराने की कार्रवाई की गई. आज होटल के बचे बड़े हिस्से को भी विस्फोट कर उड़ा दिया गया. होटल के इस बचे भाग को उड़ाने के लिए 27 किलो विस्फोटक का इस्तेमाल किया गया. देखते ही देखते पल भर में आलीशान होटल धराशायी हो गया. इस दौरान भारी पुलिस बल और प्रशासनिक अमला होटल को गिराने की कार्रवाई में दिनभर लगा रहा.

ये भी देखें - हाईकोर्ट के ऑर्डर पर 5 मंजिला होटल को विस्फोटक से उड़ाया गया
Loading...

ये भी पढ़ें - जबलपुर जेल पर छापा, बैरक में मिले हथियार और मादक पदार्थ
First published: July 4, 2019, 7:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...