Home /News /madhya-pradesh /

हत्या के बाद शव के 60 टुकड़े कर बोरवेल में फेंके, दाऊद सहित 4 आरोपियों को सजा-ए-मौत

हत्या के बाद शव के 60 टुकड़े कर बोरवेल में फेंके, दाऊद सहित 4 आरोपियों को सजा-ए-मौत

सांकेतिक चित्र

सांकेतिक चित्र

मध्य प्रदेश के शाजापुर की जिला अदालत ने हत्या के एक मामले में चार आरोपियों को फांसी की सजा सुनाई है. आरोपियों ने चार साल पहले लेन-देन के विवाद में एक व्यक्ति की हत्या के बाद उसके शव के 60 टुकड़े कर उसे सूखे बोरवेल में फेंक दिया था.

अधिक पढ़ें ...
मध्य प्रदेश के शाजापुर की जिला अदालत ने हत्या के एक मामले में चार आरोपियों को फांसी की सजा सुनाई है. आरोपियों ने चार साल पहले लेन-देन के विवाद में एक व्यक्ति की हत्या के बाद उसके शव के 60 टुकड़े कर उसे सूखे बोरवेल में फेंक दिया था.

अपर सत्र न्यायाधीश हितेंद्र कुमार मिश्रा ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद याकूब खान नाम के व्यक्ति की हत्या करने के आरोप अमीन, अमजत, दाऊद और मिथुन मालवीय को फांसी की सजा सुनाई.

लोक अभियोजन अधिकारी ने बताया कि 25 दिसंबर, 2012 को चारों आरोपियों ने धनाना गांव निवासी याकूब खान की हत्या कर दी थी. हत्या के बाद आरोपियों ने शव को 60 से ज्यादा टुकड़े किए थे. आरोपियों ने सबूत मिटाने के लिहाज से बोरवेल में शव के टुकडों को ठिकाने लगाया था.

यूं खुला राज

याकूब के गायब होने के बाद परिजनों ने पुलिस थाने पर उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. पुलिस की काफी कोशिशों के बावजूद याकूब के बारे में कोई जानकारी पुलिस को नहीं मिली. इसी दौरान खेत में सूखे बोरवेल की जेसीबी मशीन से खुदाई की गई तो शव के टुकड़े मिले थे. इसी से याकूब की हत्या का राज खुला था.

अंगूठी से हुई पहचान

शव के 60 से ज्यादा टुकड़े करने की वजह से याकूब की पहचान होना मुश्किल थी. परिजनों ने शव के पास मिली अंगूठी, कपड़े और कुछ सामान से शिनाख्त की. इस आधार पर पुलिस ने कड़ी कर कड़ी जोड़ते हुए चारों आरोपियों को गिरफ्तार किया था.

14 साल बाद फांसी

शाजापुर की जिला अदालत ने 14 साल बाद किसी मामले में फांसी की सजा सुनाई है. इसके पहले 2002 में एक मामले में अदालत ने आरोपी को सजा-xए-मौत का फैसला सुनाया था.

Tags: Murder

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर