अपना शहर चुनें

States

UJJAIN : अ.भा. कालिदास समारोह का समापन, कोरोना के कारण 3 दिन में सिमटा समागम

मध्य प्रदेश शासन के इस प्रतिष्ठापूर्ण समारोह में देश भर से विद्वान और कलाकार आते हैं
मध्य प्रदेश शासन के इस प्रतिष्ठापूर्ण समारोह में देश भर से विद्वान और कलाकार आते हैं

समारोह में शामिल कैबिनेट मंत्री मोहन यादव ने कहा यह अंतराष्ट्रीय स्तर का कार्यक्रम होता है उसकी परंपरा और सम्मान कायम रहे हमने कोशिश की है.

  • Share this:
उज्जैन. उज्जैन(Ujjain) में चल रहे अखिल भारतीय कलिदास समारोह (Kalidas samaroh) का शुक्रवार को समापन हो गया. कोरोना के कारण इस बार समारोह तीन दिन का ही रखा गया था. समारोह में उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव शामिल हुए.

मध्य प्रदेश शासन का प्रतिष्ठित अखिल भारतीय कालिदास समारोह शुक्रवार को खत्म हो गया. इस समारोह का आयोजन संस्कृति विभाग के तत्वाधान में विक्रम विश्वविद्यालय, जिला प्रशासन, कालिदास संस्कृत अकादमी मप्र, संस्कृति परिषद, उज्जैन करता है. हर साल ये समारोह 7 दिन का होता है और इसमें देश-विदेश से साहित्य मनीषी पहुंचते हैं. लेकिन इस बार कोविड19 के कारण तीन दिवसीय समारोह रखा गया. 24 नवंबर को कलश यात्रा के साथ समारोह शुरू हुआ था. उसके अगले दिन 25 नवंबर को पहले दिन संस्कृति और पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर, उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव भी शामिल हुए. उन्होंने राष्ट्रीय चित्रकला और मूर्तिकला का शुभारम्भ किया था. तीन दिन साहित्य पर चर्चा के सेशन के बाद 27 नवंबर को सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ समारोह का समापन हो गया. इसमें उच्च शिक्षा मंत्री भी शामिल हुए.

3 दिन में सिमटा समारोह
प्रत्येक वर्ष अखिल भारतीय कालिदास समारोह के आरंभ से पहले महाकवि कालिदास की आराध्य देवी गढ़कालिका की प्रार्थना कर समारोह का आरंभ किया जाता है. उसी दिन शाम को नांदी नगाड़ा और संगीत की प्रस्तुति देकर देवताओं का आव्हान किया जाता है. अगले दिन शाम 7 बजे परंपरा अनुसार सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है जिसका 7वें दिन समापन होता है. इस वर्ष कोविड19 की गाइड लाइन का पालन करते हुए तीन दिवसीय ही समारोह रखा गया.देश भर से साहित्यकार और कलाकार समारोह में आते हैं. अलग अलग राज्यों से आने वाले कलाकार अपने राज्य की संस्कृति को संस्कृत नाटक, कत्थक के माध्यम से दर्शाने यहां हर वर्ष आते हैं. जिसे देखने संस्कृति से जुड़े विद्वान, युवा शामिल होते हैं.



मंत्री मोहन यादव ने किया समापन
कैबिनेट मंत्री मोहन यादव ने मीडिया से चर्चा के दौरान कहा महाकवि कालिदास समारोह का समापन हुआ. मुझे इस बात की खुशी है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की वजह से हमारी यह परंपरा टूटी नहीं.अगली बार से जब कार्यक्रम होगा तो विक्रम विश्व विद्यालय के जो पुरुस्कार हैं उनकी राशि चार गुना बढ़ा दी जाएगी. यह अंतराष्ट्रीय स्तर का कार्यक्रम होता है उसकी परंपरा और सम्मान कायम रहे हमने कोशिश की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज