उज्जैन: अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन की कमी के विरोध में धरने पर बैठे कांग्रेस MLA

अपने समर्थकों के साथ धरने पर बैठे कांग्रेस एमएलए.

अपने समर्थकों के साथ धरने पर बैठे कांग्रेस एमएलए.

Ujjain News: मध्य प्रदेश के उज्जैन में बढ़ते कोरोना संक्रमण और अस्पतालों में ऑक्सीजन और बेड की कमी के चलते विधायक धरने पर बैठ गए हैं. कहा, जब तक व्यवस्था नहीं सुधरेगी, विरोध जारी रहेगा.

  • Share this:
उज्जैन. मध्य प्रदेश के उज्जैन में बढ़ते संक्रमण और अस्पतालों में ऑक्सीजन (Oxygen) और बेड की कमी के चलते विधायक (MLA) धरने पर बैठ गए हैं. शहर में धारा 144 के बावजूद सांकेतिक उपवास पर अपने साथियो के साथ टावर चौराहे पर कांग्रेस विधायक महेश परमार धरने पर बैठे हैं. उज्जैन में पिछले 15 दिन से कोरोना को लेकर चरमराई व्यवस्थाओं को लेकर यह धरना दिया जा रहा है.. टावर चौराहे पर डॉ. भीमराव अम्बेडकर की मूर्ति के नीचे उपवास पर बैठे विधायक ने मध्य प्रदेश की सरकार और मुख्यमंत्री पर आरोप लगाते हुए कहा कि कोरोना महामारी के चलते लोगों की जान जा रही है और सीएम चुनाव प्रचार कर रहे थे.

विधायक ने कहा कि उज्जैन के अस्पतालों में बेड ऑक्सीजन और अन्य इलाज के लिए मरीज के परिजन भटक रहे हैं और सरकार तमाशा देख रही है. विधायक ने कहा कि अगर सरकार ने जल्द ही कोई बड़े कदम नहीं उठाए तो आंदोलन, धरना प्रदर्शन भूख हड़ताल के जरिए लम्बी लड़ाई लड़ी जाएगी.

प्रदर्शन पर रोक के बावजूद धरने पर बैठे विधायक

उज्जैन जिले में धरा 144 लगी हुई है, बिना अनुमति के प्रदर्शन पर रोक लगी है, लेकिन इसके बावजूद विधायक महेश परमार ने अपने साथियों के साथ उपवास शुरू कर दिया. उन पर आरोप लगाए जा रहे हैं कि वे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं. इधर महेश परमार ने कहा है कि जब तक कोई अधिकारी आकर आश्वासन नहीं देता कि एक दो दिन में व्यवस्था सुधार ली जाएगी तब तक उपवास जारी रहेगा. इससे पहले मीडिया से बात करते हुए परमार ने कहा कि पूरे शहर में मौत का मंजर है. अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी और बेड नहीं मिलने से लोग परेशान हैं. रेमेडेसिविर इंजेक्शन की मारामारी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज