Assembly Banner 2021

Ujjain : वैक्सीन की दोनों डोज लगने के बाद भी कोरोना से हेल्थ वर्कर की मौत, देश में संभवत: पहला केस

उज्जैन में कोरोना की दूसरी लहर है. एक दिन में यहां 83 नये मरीज़ मिले.

उज्जैन में कोरोना की दूसरी लहर है. एक दिन में यहां 83 नये मरीज़ मिले.

Ujjain. 55 साल के रामाराव मलेरिया विभाग में फील्ड वर्कर के रूप में तैनात थे और यहां हाटकेश्वर कॉलोनी में रहते थे. 8 मार्च को कोरोना की दूसरी डोज़ लगने के बाद 10 मार्च से वो बीमार थे

  • Share this:
उज्जैन. उज्जैन (Ujjain) में कोरोना (Corona) संक्रमण बढ़ने के बीच एक स्वास्थ्य कर्मी (Health worker) की मौत ने सबको चिंता में डाल दिया है. चिंता इसलिए क्योंकि जिस कर्मचारी की मौत हुई उसे एंटी कोरोना वैक्सीन के दोनों डोज लग चुके थे. वैक्सीन के दोनों डोज लगने के बाद किसी स्वास्थ्यकर्मी की मौत का संभवत: ये देश में पहला मामला है.

गुरुवार को जिस संक्रमित मरीज स्वास्थ्कर्मी रामाराव की मौत हुई है उसे वैक्सीन के दोनों डोज लग चुके थे. इसके बावजूद स्वास्थ्कर्मी जिंदगी से जंग हार  गया. कल शाम उसकी मौत हो गयी. ये देश का पहला मामला होगा जिसमें किसी स्वास्थ्यकर्मी को वैक्सीन के दोनों डोज लगने के बावजूद उसकी मौत कोरोना से हो गयी हो.

फील्ड वर्कर थे रामाराव
55 साल के रामाराव मलेरिया विभाग में फील्ड वर्कर के रूप में तैनात थे और यहां हाटकेश्वर कॉलोनी में रहते थे. रामाराव को पहली डोज 9 फरवरी और दूसरी 8 मार्च को लगी थी. वैक्सीन लगने के दो दिन बाद ही 10 मार्च को उनकी तबियत बिगड़ी. बुखार, हाथ पैर में दर्द के साथ सांस लेने में तकलीफ होने लगी. कोविड टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आयी थी. उन्हें 18 मार्च को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया गया था. तबियत ज़्यादा बिगड़ने पर 21 मार्च को माधव नगर अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया था. लेकिन उनकी हालत में सुधार नहीं हुआ. लगातार तबियत बिगड़ने के बाद कल 25 मार्च को रामाराव को वेंटिलेटर पर रखा गया लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका.
दोनों डोज के 15 से 20  दिन बाद इम्युनिटी


इस पूरे मामले में जब उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह से जानकरी ली गयी तो उन्होंने अनभिज्ञता जताते हुए कहा कि आपसे ये पता चला है. कल जिस स्वास्थकर्मी की मौत हुई है उसकी रिपोर्ट दिखवाकर ही आगे कुछ कह पाएंगे. जहां तक दोनों  डोज  लगवाने के बाद भी मौत की बात है तो डोज लगने के करीब 15 से 20 दिन बाद शरीर में इम्युनिटी बनती है. इसलिए वैक्सीन के दोनों डोज लगने के बाद भी सुरक्षा के सारे उपाय अपनाने चाहिए. वैक्सीन सभी को लगवाना चाहिए. टीका लगने के बाद भी सतर्क रहें.

कोरोना की दूसरी लहर
उज्जैन अब कोरोना की दूसरी लहर से मुकाबला कर रहा है. जिस तरह से रोजाना संक्रमितों का आंकड़ा बढ़ रहा है उसे देख कर लग रहा है कि आने वाले दिनों में फिर से लॉकडाउन हो सकता है. गुरुवार का जो मेडिकल बुलेटिन जारी हुआ उससे पता चलता है कि उज्जैन में अब तक के सबसे ज्यादा 83 कोरोना पॉजिटिव मरीज एक दिन में मिले हैं. एक मरीज की मौत हो गयी. इन्हें मिलाकर अब तक कुल मरीजों की संख्या 5947 पर पहुंच गयी है. और मरने वालों का आंकड़ा 108 हो गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज