महाकाल मंदिर में अगर गलत सर्टिफिकट दिखाकर घुसने की कोशिश की तो सीधे करायी जाएगी FIR

महाकाल मंदिर में एक दिन में 3500 श्रद्धालुओं को प्रवेश दिया जाएगा.

Ujjain- महाकाल मंदिर में दर्शनार्थियों को ऑनलाइन बुकिंग कराने के बाद वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट या 24 से 48 घंटे पूर्व की कोविड रिपोर्ट दिखाने पर ही मन्दिर परिसर में प्रवेश दिया जाएगा.

  • Share this:
उज्जैन. कोरोना के कारण लंबे समय से श्रद्धालुओं के लिए बंद महाकाल मंदिर (Mahakal) के पट 28 तारीख से खुलने वाले हैं. लेकिन अब भक्तों को कोरोना गाइड लाइन (Corona guideline) के पालन के साथ और भी कई नियम और पाबंदियां माननी होंगी. अगर किसी ने इनकी अनदेखी कर मंदिर में घुसने की कोशिश की तो उसके खिलाफ सीधे पुलिस में FIR दर्ज करायी जाएगी.

महाकाल मंदिर समिति की गुरुवार को हुई बैठक में मंदिर 28 जून को खोलने पर मोहर लग चुकी है. लेकिन श्रद्धालुओं को अब कई तरह के  नियमों का पालन करना होगा तभी मंदिर में प्रवेश मिल सकेगा. अगर किसी ने नियम तोड़कर मंदिर में जबरन प्रवेश करना चाहा तो उस  श्रद्धालु के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी.

22 जून से ऑनलाइन बुकिंग
उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह ने कहा 22 जून से ऑनलाइन परमिशन की लिंक खुल जाएगी. लेकिन किसी भी  श्रद्धालु ने वैक्सीन सर्टिफिकेट बदलने, मैसेज को मेनपुलेटेड करने या फिर किसी अन्य के सर्टिफिकेट पर मंदिर में प्रवेश करने की कोशिश की तो उन  श्रद्धालुओं  के खिलाफ धारा 188 और 420 में मामला दर्ज कराया जाएगा.

मंदिर में  नये गेट से प्रवेश
महाकालेश्वर मंदिर में दर्शनार्थियों के लिए 28 जून से दर्शन शुरू किये जाएंगे. दर्शनार्थियों को ऑनलाइन बुकिंग कराने के बाद वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट या 24 से 48 घंटे पूर्व की कोविड रिपोर्ट दिखाने पर ही मन्दिर परिसर में प्रवेश दिया जाएगा. मन्दिर परिसर में स्थित सभी देवस्थान दर्शन के लिए खुले रहेंगे. श्री महाकालेश्वर मन्दिर प्रबंध समिति की कलेक्टर आशीष सिंह की अध्यक्षता में गुरुवार को हुई बैठक में मुख्य रूप से ये निर्णय लिए गए थे
- महाकाल मंदिर में मुख्य प्रवेश द्वार के सामने निर्माण कार्य चलने के कारण गेट बंद किया गया है. 28 जून  से श्रद्धालुओं को गेट नंबर चार भस्मारती द्वार या फिर धर्मशाला के गेट से प्रवेश मिलेगा.
1. श्रद्धालुओं को 28 जून से प्रात: 6 बजे से रात्रि 8 बजे तक सात स्लॉट में ऑनलाइन बुकिंग के बाद दर्शन की अनुमति दी जाएगी.

2. गर्भगृह, नन्दी हाल में श्रद्धालुओं का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा. मन्दिर में सेल्फी लेना भी मना है.

-3. भस्म आरती और शयन आरती में सामान्य श्रद्धालुओं को प्रवेश नहीं मिलेगा.

4.  नि:शुल्क अन्नक्षेत्र को आधी क्षमता के साथ शुरू किया जाएगा.

5. इस बार सावन महोत्सव स्थगित रहेगा.

6 प्रत्येक स्लॉट में 500 श्रद्धालु को परमिशन

7 शुरुआत में एक दिन में 3500 लोगों को प्रवेश.

8-सर्टिफिकेट और मैसेज में  छेड़छाड़ करने वाले श्रद्धालुओं पर होगी एफआईआर.

मंदिर प्रशासन की चेतावनी
ये दूसरा मौका है जब कोरोना के कारण महाकाल मंदिर में श्रद्धालुओं का प्रदेश बंद किया गया था. ऑनलाइन प्री बुकिंग से ही दर्शन करने मिलेंगे. पिछली बार कई श्रद्धालुओं को किसी दूसरे के नाम पर प्रवेश करते हुए मंदिर के कर्मचारियों ने पकड़ा था. कलेक्टर आशीष सिंह ने कहा है इस बार किसी ने भी वैक्सीन सर्टिफिकेट को बदलने या फिर ऑनलाइन परमिशन के मैसेज से छेड़छाड़ कर महाकाल मंदिर में प्रवेश करने की कोशिश  की तो उस  श्रद्धालु के खिलाफ धारा 420 और 188 में मामला दर्ज किया जाएगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.