उज्जैन ज़हरीली शराब कांड : अब जागा प्रशासन, 5 टीमें निकलीं शहर में और...

उज्जैन में जहरीली शराब कांड के बाद चैकिंग(file photo)
उज्जैन में जहरीली शराब कांड के बाद चैकिंग(file photo)

पूर्व मुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ (Kamalnath) ने कहा-प्रदेश के कई जिलों से शराब माफ़िया (wine mafia) और अवैध शराब के कारोबार की निरंतर शिकायतें मिल रही हैं. हमारी सरकार जाते ही ये माफिया वापस बेखौफ होकर सक्रिय हो गया. हमारी सरकार ने इन्हें कुचला था और भाजपा सरकार इन्हें संरक्षित कर रही है.

  • Share this:
उज्जैन. उज्जैन में हुए ज़हरीली शराब (Poisonous liquor) कांड के बाद प्रशासन अलर्ट (Alert) पर है. अब शराब चैकिंग अभियान चल रहा है. चैकिंग के नाम पर कहीं फुट पाथ पर सो रहे मजदूरों को उठाया गया तो कहीं उन्हें भगा दिया गया. श्रीमंत माधवराव सिंधिया जिला चिकत्सालय के बाहर 30 से अधिक मजदूर दीवार (labour) किनारे बिस्तर लगा कर सो रहे थे. उनमें से कुछ लोकल तो कुछ आस पास के इलाकों के थे जो काम के लिए यहां आए थे. लेकिन बस छूट जाने की वजह से यहीं सो गए थे.

शराब के नशे में अंग्रेजी में बोला मज़दूर
चैकिंग के दौरान एक मजदूर ने ADM नरेंद्र सूर्यवंशी से शराब के नशे में अंग्रेजी में बात की. तो ADM साहब भी चौंक गए. उन्होंने बराबरी से मजदूर को अंग्रेजी में ही समझाया. वहीं एक व्यक्ति से मौके पर जब SDM ने बात की तो पाया वो काशी विश्वनाथ से यहां महाकाल की नगरी काम की तलाश में आया हुआ है.
जिसने ज़्यादा पी वो अस्पताल भेजा जाएगा
प्रशासन की टीम में नगर निगम आयुक्त, एडीएम, पुलिस और डॉक्टर्स सब शामिल थे. टीम फुटपाथ पर सो रहे लोगो को समझाइश दे रही है. चैक किया जा रहा है कि कौन शराब पिये है. जिन्होंने ज्यादा शराब पी उन्हें सीधा अस्पताल के अंदर रेन बसेरे में शिफ्ट करवाया गया. संदिगध अवस्था में पाए जाने वाले को एम्बुलेंस या डायल 100 में बिठाकर जिला अस्पताल लाया जाएगा और उसे इलाज के लिए भर्ती किया जाएगा.



थाना प्रभारी सहित 4 पुलिस कर्मी निलंबित
देर रात भोपाल से SIT टीम भी उज्जैन पहुंच चुकी है. इस वजह से शहर में चैकिंग अभियान की इस बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया गया.उज्जैन में जहरीली जिंजर पीने के बाद 14 लोगों की मौत हो गयी थी.इनमें से ज़्यादातर मज़दूर थे. इस घटना के बाद शहर के खारा कुआं थाना प्रभारी सहित 4 पुलिसकर्मियों निलंबित कर दिया गया है. पूरे जिले में अवैध शराब के खिलाफ कार्रवाई में अब तक 10 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

सख्त कार्रवाई का निर्देश
मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए गुरुवार को इस घटना की एसआईटी जांच का आदेश दिया था. चौहान ने कहा, ‘न सिर्फ उज्जैन बल्कि पूरे प्रदेश में इस तरह के मामलों पर नजर रखी जाए. जहां कहीं भी ऐसे मिलावटी और जहरीले पदार्थों की बिक्री की आशंका हो, सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए.

कमलनाथ का आरोप
मध्य प्रदेश के  कमलनाथ ने इस घटना को लेकर राज्य की भाजपा सरकार पर निशाना साधा. कमलनाथ ने कहा प्रदेश के कई जिलों से शराब माफ़िया और अवैध शराब के कारोबार की निरंतर शिकायतें मिल रही हैं. हमारी सरकार जाते ही ये माफिया वापस बेखौफ होकर सक्रिय हो गया. हमारी सरकार ने इन्हें कुचला था और भाजपा सरकार इन्हें संरक्षित कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज