Home /News /madhya-pradesh /

खाद के बदले लाठी: सब्र टूटा तो किसानों ने लूटीं यूरिया की बोरियां, पुलिस ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, देखें Video

खाद के बदले लाठी: सब्र टूटा तो किसानों ने लूटीं यूरिया की बोरियां, पुलिस ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, देखें Video

मप्र के उज्जैन में किसानों ने यूरिया की बोरियां लूटीं तो पुलिस ने उन पर लाठियां चलाईं.

मप्र के उज्जैन में किसानों ने यूरिया की बोरियां लूटीं तो पुलिस ने उन पर लाठियां चलाईं.

Madhya Pradesh News: उज्जैन में हाल ही में अन्नदाता किसानों पर पुलिस ने जबरदस्त लाठी चलाईं. दरअसल, किसान खाद लेने के लिए 26 नवंबर को सुबह 5 बजे से मंडी में इंतजार कर रहे थे. उन्हें दोपहर के बाद तक भी खाद नहीं मिली. इसके बाद उनका सब्र टूट गया और उन्होंने सोसयटी में रखीं यूरियां उठाना शुरू कर दिया. एक-दूसरे की देखा-देखी में और भी किसान आए और लूटपाट मच गई. शुरुआत में तो पुलिस कुछ समझी नहीं, लेकिन जैसे ही उसे माजरा समझ में आया तो उसने दौड़ा-दौड़ाकर किसानों को पीटना शुरू कर दिया. मामला उज्जैन की तराना तहसील कृषि उपज मंडी का है.

अधिक पढ़ें ...

उज्जैन. उज्जैन में एक तरफ किसानों ने खाद लूटी, तो दूसरी तरफ पुलिस ने उन पर लाठियां भांजीं. देर तक खाद न मिलने से नाराज किसानों ने यूरियां की बोरियां उठा लीं. मामला उज्जैन की तराना तहसील कृषि उपज मंडी का है. घटना हालांकि, पिछले गुरुवार की बताई जा रही है. लेकिन, इसका वीडियो सामने आने के बाद वायरल हो गया है. किसानों की स्थिति देखते हुए स्थानीय विधायक ने उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है.

जानकारी के मुताबिक सैकड़ों किसान घंटों से तराना तहसील की कृषि उपज मंडी में लाइन में खड़े थे. इसके बाद किसान उखड़ गए और अफरा-तफरी मचा दी. उन्होंने वहां सोसायटी में रखी यूरिया की बोरियों को लूटकर ले जाने लगे. 50-50 किलो की इन बोरियों को कई किसान कंधे पर रखकर भाग गए. अफरा-तफरी देख वहां मौजूद पुलिस उनकी ओर दौड़ी और किसानों को रोकने की कोशिश की. लेकिन, जब किसान नहीं माने तो पुलिस ने भी दौड़-दौड़कर किसानों पर लाठियां चलानी शुरू कर दीं.

उग्र आंदोलन किया जाएगा- परमार

गौरतलब है कि किसानों का आरोप का है कि यहां कालाबाजारी जमकर हो रही है. हंगामे के वक्त 100 से ज्यादा किसान मौके पर मौजूद थे. मामले को लेकर तराना के विधायक महेश परमार ने कहा  कि शासन प्रशासन खाद की कालाबाजारी रोकने में नाकाम  रहा है. किसानों को पूरा-पूरा दिन खड़े रहने के बाद भी खाद नहीं मिल रही है. किसानों की मदद के बजाय पुलिस उन पर डंडे चला रही है. किसानो पर लाठीचार्ज का हम विरोध करेंगे. अगर एक-दो दिन में व्यवस्था नहीं सुधरी तो उग्र आंदोलन किया जाएगा.

सिपाही ही जेल के अंदर ले जा रहे थे चरस, अधीक्षक ने रंगे हाथ पकड़ा

उज्जैन की सेंट्रल भैरवगढ़ के प्रहरी ही अपराधी बनने पर उतारू हैं. जेल अधीक्षक ऊषा राज ने रविवार को खुद 3 प्रहरियों को मुंह में चरस रखकर जेल के अंदर जाते देखा. तीनों को पकड़कर सस्पेंड कर दिया गया है. जेल अधीक्षक ऊषा राजे ने इसकी सूचना जेल मुख्यालय को भेज दी है. ये आरोपी बाहर से चरस खरीदकर जेल में बंद कैदियों को डबल रेट में बेचते थे. जानकारी के मुताबिक, 28 नवंबर की शाम को काल भैरव की सवारी निकलने वाली थी.

जेल अधिकारी-कर्मचारी और बंदी सवारी देखने की तैयारी कर रहे थे. जेल अधीक्षक ऊषा राज राउंड पर थीं और चेकिंग कर रही थीं. उन्होंने जेल के तीन प्रहरियों बलराम, शाहरुख और यशपाल कहार पर शक हुआ, क्योंकि उनके मुंह भरे हुए थ.. उन्होंने तीनों से मुंह खोलने को बोला, लेकिन आरोपी इसके लिए तैयार नहीं हुए. इसके बाद उन पर सख्ती की गई तो उनके मुंह से चरस की पुड़िया निकली. जेल अधीक्षक ने तुरंत चरस को जब्त किया और उसी वक्त पंचनामा बनाया. तीनों सिपाहियों को तत्काल सस्पेंड कर दिया गया. बताया जा रहा है कि जेल अधीक्षक ने इसकी सूचना जेल डीजी को भी दे दी है. जेल मुख्यालय तीनों दोषियों को बर्खास्त कर सकता है.

Tags: Mp news, Ujjain news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर