बैगा आदिवासियों ने हजारों की तादाद में अचानक जिला मुख्यालय पहुंच हल्ला बोला

उमरिया जिले में उसी दौरान सरकारी योजनाओं का लाभ न मिलने और लगातार प्रशासनिक उपेक्षा से नाराज बैगा आदिवासियों के हल्ला बोल देने से प्रशासनिक हल्के में अफरातफरी मच गई.

Bijendra Tiwari | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 13, 2018, 11:39 PM IST
बैगा आदिवासियों ने हजारों की तादाद में अचानक जिला मुख्यालय पहुंच हल्ला बोला
जिला मुख्यालय पर कुछ यूं हजारों बैगा समाज के लोगों ने हल्ला बोला
Bijendra Tiwari | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 13, 2018, 11:39 PM IST
पूरे प्रदेश में सूबे के मुखिया शिवराज सिंह चौहान की सरकार बुधवार को गरीबों और मजदूरों के लिए मुख्यमंत्री जनकल्याण सम्बल योजना के तहत चिह्नित कर सरकारी योजनाओं से नवाजने का काम में जुटी थी. वहीं उमरिया जिले में उसी दौरान सरकारी योजनाओं का लाभ न मिलने और लगातार प्रशासनिक उपेक्षा से नाराज बैगा आदिवासियों के हल्ला बोल देने से प्रशासनिक हल्के में अफरातफरी मच गई. बगैर किसी सूचना के अचानक बैगाओं का सैलाव जब सड़कों पर उतरा तो पुलिस के होश उड़ गए. किसी अनहोनी से बचने तत्काल पुलिस बल की व्यवस्था करनी पड़ी. बाद में बैगा आदिवासियों का सैलाव कलेक्टर कार्यालय पंहुचा तो चारों तरफ सिर्फ बैगा ही बैगा दिखाई दे रहे थे.

आदिवासियों के हल्ला बोल से पहले से ही सतर्क कलेक्ट्रेट पंहुचने के पहले ही अफसर कुर्सी छोड़ तत्काल बाहर खड़े हो गए और आदिवासियों को उनकी हर समस्या का जल्द से जल्द समाधान का भरोसा देकर किसी तरीके से उन्हें खुश करने की कोशिस की. बैगा आदिवासियों के इस हल्ला बोल आंदोलन की अगुवाई बीजेपी के बैगा नेता सतीलाल के करने से इस पूरे घटनाक्रम को भले ही सियासी आईने से भी देखा जा रहा हो लेकिन विधानसभा चुनाव के ठीक पूर्व बैगा आदिवासियों का आक्रोश और सरकार के कामकाज पर सवाल कहीं न कहीं सरकार की मंशा को कठघरे में ला देता है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर