Assembly Banner 2021

बाघों के घर में हाथियों की खुशामद

बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में इन हाथियों की पार्टी चल रही है. यहां गजराज महोत्सव मनाया जा रहा है जो पूरे एक हफ़्ते चलेगा. महोत्सव के इन सात दिनों में हाथियों की जमकर खातिरदारी की जा रही है. उनके नहाने से लेकर खाने तक के सारे इंतज़ाम ख़ास हैं. सेब-केला और गन्ना से लेकर मेवा-मिश्री तक इन्हें परोसी जा रही है.

  • Share this:
बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में इन हाथियों की पार्टी चल रही है. यहां गजराज महोत्सव मनाया जा रहा है जो पूरे एक हफ़्ते चलेगा. महोत्सव के इन सात दिनों में हाथियों की जमकर खातिरदारी की जा रही है. उनके नहाने से लेकर खाने तक के सारे इंतज़ाम ख़ास  हैं. सेब-केला और गन्ना से लेकर मेवा-मिश्री तक इन्हें परोसी जा रही  है.
वैसे तो उमरिया ज़िले का ये बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व बाघों के लिए मशहूर है. लेकिन यहां खुशामद गजराज की होती है. हाथी महोत्सव के दौरान इन मनमौजी हाथियों की खूब तीमारदारी होती है.

हाथी महोत्सव देखने लायक होता है. हाथियों की मौज की शुरुआत उनकी मसाज और नहलाने से शुरू होती है. पार्क के महावत शुद्ध पानी से उन्हें नहलाते हैं फिर मसाज करते हैं. उसके बाद डॉक्टर हाथियों का चैकअप करते हैं. जो हाथी स्वस्थ हैं उनका श्रृंगार शुरू होता है. जो अस्वस्थ हैं उनका इलाज किया जाता है. गजराज को चंदन और रोली से सजाते हैं और फिर छप्पन भोग परोसे जाते हैं. खाने की शुरुआत गन्ने,सेब और केले से होती है. गजराज महोत्सव का जितना इंतज़ार यहां के स्टाफ को रहता है उतना ही शायद इन हाथियों को भी रहता होगा. आम जनता भी हाथियों की ये नाज़-नखरे देखने आती है. (बिजेन्द्र तिवारी की रिपोर्ट)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज