लाइव टीवी

उमरिया के कलेक्टर ने किया परोपकार का ऐसा काम कि सबके लिए बने मिसाल
Umaria News in Hindi

Bijendra Tiwari | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 7, 2019, 6:28 PM IST

उमरिया जिले के कलेक्टर स्वरोचिष सोमवंशी ने एक ऐसा काम किया है जो किसी भी लोकसेवक के लिए एक मिसाल है. उन्होंने इस भीषण गर्मी में अपने चैंबर और वाहन से एसी हटाकर बीमार बच्चों के रूम में लगवा दिया है.

  • Share this:
कोई कलेक्टर यदि 45 डिग्री तापमान में अपने चैंबर और वाहन से एसी हटाकर बीमार बच्चों के रूम में लगवा दे तो इसे एक उदाहरण माना जाएगा. उमरिया जिले के कलेक्टर स्वरोचिष सोमवंशी ने यह काम किया है. सोमवंशी ने कुपोषित बच्चो का दर्द देखा. पहले तो उनके रूम में चंदे से एसी लगवाने का प्लान बनाया लेकिन उसमे सफलता नहीं मिली तो प्रचंड गर्मी को देखकर कलेक्टर ने अपने चैंबर और सभा कक्ष के एसी ही बच्चों के कमरे में लगवा दिए.

कुपोषित बच्चों को अस्पताल भेजने में जुटे हैं कलेक्टर

कलेक्टर इसे बड़ा काम नहीं मानते लेकिन प्रचंड गर्मी के इस मौसम में एक कलेक्टर का यह फैसला वास्तव में किसी मिसाल से कम नहीं है. उमरिया जिले में कुपोषण एक गंभीर समस्या है, जिसे दूर करने करने के लिए कलेक्टर ने इन दिनों पूरी ताकत झोंक दी है. गांव-गांव जाकर चौपाल लगाना और लोगों को जागरूक करके कुपोषित बच्चों को अस्पताल भेजने की अपील करना इन दिनों कलेक्टर का रूटीन है, यही वजह है कि उन्होंने अपने वाहन का एसी भी निकलवा दिया है. जिससे उन्हें ठंड और गर्मी से होने वाली परेशानी न हो. कलेक्टर की इस पहल से अस्पताल में भर्ती बच्चों के साथ परिजन और डॉक्टर भी राहत महसूस करने लगे हैं. बहरहाल जिले के कलेक्टर की यह संवेदनशीलता  दूसरे अफसरों के लिए एक सीख भी है.
ये भी पढ़ें-

बीकानेर जिला कलेक्टर ने दंतौर में लगाई रात्रि चौपाल, बड़ी संख्या में पहुंचे ग्रामीण

VIDEO: बेमेतरा कलेक्टर ने तीन दिन में पांच अधिकारियों को किया सस्‍पेंड

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए उमरिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 7, 2019, 6:28 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर