बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व की सबसे मशहूर और बुजुर्ग बाघिन T-23 की मौत

17 साल तक जीने वाली टी-23 ने अपने आखिरी दिनों में खाना-पीना छोड़ दिया था जिससे वो बेहद कमजोर और बीमार हो गई थी.

News18Hindi
Updated: August 8, 2019, 12:22 PM IST
बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व की सबसे मशहूर और बुजुर्ग बाघिन T-23 की मौत
17 साल तक जीने वाली टी-23 ने अपने आखिरी दिनों में खाना-पीना छोड़ दिया था जिससे वो बेहद कमजोर और बीमार हो गई थी.
News18Hindi
Updated: August 8, 2019, 12:22 PM IST
मध्य प्रदेश के उमरिया जिले स्थित बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व की सबसे बुजुर्ग बाघिन की मौत हो गई है. 'महामन मां' के नाम से मशहूर टी-23 की बुधवार रात मौत हो गई. टी-23 पिछले कुछ समय से बीमार थी. अपने आखिरी दिनों में उसने खाना-पीना छोड़ दिया था जिससे वो बेहद कमजोर हो गई थी.




सत्रह साल की उम्र तक जीने वाली बाघिन टी-23 के सारे दांत और नाखून गिर गए थे. वो अपने पिंजरे में एक जगह बैठी रहती थी. बड़ी मुश्किल से वो कोई हरकत कर पाती थी. वन विभाग द्वारा उसे ऊर्जा और ताकत के लिए दवाएं, इंजेक्शन दिए जाते थे. उसके शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है.

बाघिन टी-23 ने अपने जीवनकाल में 9 शावकों को जन्म दिया था. इसी साल मार्च में वो जंगल में घायल हो गई थी. जिसके बाद वन विभाग द्वारा उसे रेस्क्यू कर लाया गया था. लेकिन तभी से लगातार उसकी हालत बिगड़ती चली गई थी.
Loading...

बता दें कि आम तौर पर जंगलों में किसी भी बाघ की उम्र 10 से 12 साल होती है. इस लिहाज से देखें तो बाघिन टी-23 इससे कहीं ज्यादा जिंदगी जी चुकी थी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए उमरिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 8, 2019, 12:22 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...