अपना शहर चुनें

States

बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व की सबसे मशहूर और बुजुर्ग बाघिन T-23 की मौत

17 साल तक जीने वाली टी-23 ने अपने आखिरी दिनों में खाना-पीना छोड़ दिया था जिससे वो बेहद कमजोर और बीमार हो गई थी.
17 साल तक जीने वाली टी-23 ने अपने आखिरी दिनों में खाना-पीना छोड़ दिया था जिससे वो बेहद कमजोर और बीमार हो गई थी.

17 साल तक जीने वाली टी-23 ने अपने आखिरी दिनों में खाना-पीना छोड़ दिया था जिससे वो बेहद कमजोर और बीमार हो गई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 8, 2019, 12:22 PM IST
  • Share this:
मध्य प्रदेश के उमरिया जिले स्थित बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व की सबसे बुजुर्ग बाघिन की मौत हो गई है. 'महामन मां' के नाम से मशहूर टी-23 की बुधवार रात मौत हो गई. टी-23 पिछले कुछ समय से बीमार थी. अपने आखिरी दिनों में उसने खाना-पीना छोड़ दिया था जिससे वो बेहद कमजोर हो गई थी.



सत्रह साल की उम्र तक जीने वाली बाघिन टी-23 के सारे दांत और नाखून गिर गए थे. वो अपने पिंजरे में एक जगह बैठी रहती थी. बड़ी मुश्किल से वो कोई हरकत कर पाती थी. वन विभाग द्वारा उसे ऊर्जा और ताकत के लिए दवाएं, इंजेक्शन दिए जाते थे. उसके शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है.
बाघिन टी-23 ने अपने जीवनकाल में 9 शावकों को जन्म दिया था. इसी साल मार्च में वो जंगल में घायल हो गई थी. जिसके बाद वन विभाग द्वारा उसे रेस्क्यू कर लाया गया था. लेकिन तभी से लगातार उसकी हालत बिगड़ती चली गई थी.



बता दें कि आम तौर पर जंगलों में किसी भी बाघ की उम्र 10 से 12 साल होती है. इस लिहाज से देखें तो बाघिन टी-23 इससे कहीं ज्यादा जिंदगी जी चुकी थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज