अपना शहर चुनें

States

उमरिया गैंगरेप केस : राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने मुख्य सचिव और DGP को भेजा नोटिस

NHRC ने इस मामले की रिपोर्ट मांगी है..(सांकेतिक तस्वीर)
NHRC ने इस मामले की रिपोर्ट मांगी है..(सांकेतिक तस्वीर)

पुलिस के मुताबिक, बच्ची के पिता जबलपुर (Jabalpur) में सरकारी नौकरी करते हैं. वह पिता के साथ ही रहकर वहां पढ़ाई करती है. 9वीं की यह छात्रा (Student) लॉकडाउन में मां के पास उमरिया आई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 18, 2021, 11:20 PM IST
  • Share this:
दिल्ली.मध्य प्रदेश (MP) के उमरिया में नाबालिग लड़की के साथ हुए गैंगरेप (Gangrape) मामले पर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने संज्ञान लिया है. आयोग ने इस मामले में मध्य प्रदेश के मुख्य सचिव और डीजीपी को एक नोटिस भेजा है. इसमें उस कथित गैंगरेप के बारे में रिपोर्ट मांगी गयी है. मामला उमरिया जिले में 13 साल की लड़की के गैंगरेप का है. आरोप है कि लड़की का दो बार अपहरण करने के बाद अलग-अलग मौकों पर 9 लोगों ने गैंगरेप किया था.

मध्य प्रदेश के उमरिया से ये दिल दहला देने वाला मामला सामने आया था. यहां 13 साल की बच्ची का 9 लोगों ने 3 दिन तक लगातार रेप (Umaria Gangrape) किया. पहले दो लोगों ने गैंगरेप किया फिर बारी-बारी से दूसरे उसे शिकार बनाते रहे. बच्ची ने जिससे भी मदद मांगी, उसी ने फायदा उठाया. परिवार के साथ थाने पहुंची किशोरी ने जब हालात बयां किए, तो सुनकर पुलिस के भी रोंगटे खड़े हो गए. पुलिस ने 7 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.


पुलिस का बयान
पुलिस के मुताबिक, बच्ची के पिता जबलपुर में सरकारी नौकरी करते हैं. वह पिता के साथ ही रहकर वहां पढ़ाई करती है. 9वीं की यह छात्रा लॉकडाउन में मां के पास उमरिया आई थी. 11 जनवरी की दोपहर बच्ची किशोरी नगर सब्जी मंडी गई थी. इस दौरान यहां उसे दो आरोपी राहुल कुशवाहा और आकाश सिंह मिले. दोनों उसे एक दुकान में ले गए और बहला-फुसलाकर मोबाइल नंबर लिया और इसके बाद घुमाने के बहाने बाइक पर साथ ले गए.



ढाबे पर बांधा और फिर बारी-बारी से किया रेप
दोनों आरोपी राहुल कुशवाहा और आकाश सिंह बच्ची को लेकर शहर से लगे भरौला-छटन के जंगल पहुंचे. यहां उन्होंने बच्ची को डरा-धमकाकर उसके साथ दुष्कर्म किया. इसके बाद उसे एनएच 43 किनारे पर मौजूद ढाबे पर ले गए. रात में उसे वहीं बंधक बनाकर रखा. यहां आरोपी आकाश और राहुल के अलावा ढाबा संचालक पारस सोनी और साथियों मानू केवट, ओंकार राय, ईतेंद्र सिंह और रजनीश चौधरी ने उसके साथ दुष्कर्म किया. इसके बाद दोनों आरोपी उसे छटन बस्ती के जंगल में भी ले गए, जहां उसके साथ दरिंदगी की.

जिससे मदद मांगी उसी ने छला
पुलिस के अनुसार रेप के दूसरे दिन 12 जनवरी की सुबह बच्ची ने आरोपियों से बड़े पापा के पास कटनी भेजने की मिन्नतें की. आरोपियों ने ट्रक ड्राइवर रोहित यादव के साथ उसे ट्रक में बिठा दिया. रास्ते में इस ट्रक चालक ने भी बालिका के साथ दुष्कर्म किया. बाद में उसे विलायत कला- बड़वारा के समीप टोल नाके पर छोड़ दिया. यहां बालिका ने फिर से वापस उमरिया आने के लिए ट्रक चालक से लिफ्ट मांगी. उस ट्रक चालक ने भी बेबसी का फायदा उठाते हुए बच्ची के साथ दुष्कर्म किया. बाद में उसे उमरिया के पास छोड़कर भाग गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज