Assembly Banner 2021

जिला अस्पताल बीमारी की चपेट में, डायलिसिस-सोनोग्राफी जैसी महत्वपूर्ण मशीनें बंद

जिला अस्पताल, उमरिया

जिला अस्पताल, उमरिया

उमरिया का जिला अस्पताल इन दिनों मानो खुद बीमारी की चपेट में है.बीमारी की जांच मशीनों में गड़बड़ी की जिसकी वजह से रोगियों का इलाज प्रभावित हो रहा है.यहां महीनों से डायलिसिस, सोनोग्राफी जैसी महत्वपूर्ण मशीनें बंद रहने से स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा हुई हैं लेकिन सुध लेने वाला कोई नहीं है.

  • Share this:
उमरिया का जिला अस्पताल इन दिनों मानो खुद बीमारी की चपेट में है.बीमारी की जांच मशीनों में गड़बड़ी की जिसकी वजह से रोगियों का इलाज प्रभावित हो रहा है.यहां महीनों से डायलिसिस, सोनोग्राफी जैसी महत्वपूर्ण मशीनें बंद रहने से स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा हुई हैं लेकिन सुध लेने वाला कोई नहीं है.आलम ये है कि अस्पताल की बीमारी में सिर्फ मशीनरी ही शामिल नहीं है बल्कि यहां की ओपीडी हो चाहे आकस्मिक सेवाएं चिकित्सक तलाश करने पड़ते हैं.यानि पीड़ित को छोड़ आपको पहले डॉक्टर की तलाश में भटकना पड़ेगा.लेकिन जिम्मेदारों की नजर में सब कुछ सामान्य है.

जिला अस्पताल की सोनोग्राफी मशीन खराब है तो डायलिसिस की मशीन लगातार डेढ़ महीने से तकनीकी खराबी के नाम पर बंद है.इस प्रकार इन मशीनों के लिए तैनात स्वाथ्य विभाग के तकनीशियनों की टीम मुफ्त का वेतन ले रही है. पीड़ित बड़े शहरों के बूते जीवित हैं.जब मशीनों के सही ना होने का अस्पताल प्रशासन के जिम्मेदारों से सवाल किया गया तो प्रभारी सिविल सर्जन बीपी पटेल ने कहा कि यह सब आउटसोर्स से संचालित हैं और ठेका बड़ी कम्पनियों ने ले रखा है. अस्पताल के अफसर केवल पत्र व्यवहार कर सकते हैं,कार्यवाही का अधिकार राजधानी वालों के पास है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज