एट्रोसिटी एक्ट के डर से विदिशा में अधेड़ ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

विदिशा के कोतवाली थाना इलाके के गजार मूढ़रा गांव के निवासी राजेंद्र सिंह राजपूत ने दशहरे की रात फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. मृतक के परिजनों के अनुसार राजेंद्र का गांव के ही सुंदरलाल अहिरवार से विवाद हुआ था, जिसके बाद राजेंद्र ने एट्रोसिटी एक्ट के डर से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.

News18 Madhya Pradesh
Updated: October 22, 2018, 9:42 AM IST
एट्रोसिटी एक्ट के डर से विदिशा में अधेड़ ने फांसी लगाकर की आत्महत्या
प्रतीकात्मक तस्वीर
News18 Madhya Pradesh
Updated: October 22, 2018, 9:42 AM IST
विदिशा में एट्रोसिटी एक्ट के डर से एक अधेड़ द्वारा आत्महत्या करने का मामला सामने आया है. एट्रोसिटी एक्ट के डर से राजेंद्र सिंह राजपूत नामक व्यक्ति ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. सूचना के बाद मौके पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने शव फंदे से उतारा और पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया. जानकारी के अनुसार विदिशा के गजार मूढ़रा गांव का मामला बताया जा रहा है.

मामले में मिली जानकारी के अनुसार विदिशा के कोतवाली थाना इलाके के गजार मूढ़रा गांव के निवासी राजेंद्र सिंह राजपूत ने दशहरे की रात फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. मृतक के परिजनों के अनुसार राजेंद्र का गांव के ही सुंदरलाल अहिरवार से विवाद हुआ था, जिसके बाद राजेंद्र ने एट्रोसिटी एक्ट के डर से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.



घटना के बाद विदिशा सपाक्स संगठन भी मृतक राजेंद्र सिंह राजपूत के घर पहुंचा. मृतक के घर पहुंचे सपाक्स संगठन ने इस काले कानून का विरोध किया और पुलिस व प्रशासन से मृतक के परिजनों को एक करोड़ रुपये के मुआवजे व नौकरी देने की मांग की. फिलहाल कोतवाली थाना पुलिस मौके पर है और मामले की जांच की जा रही है.

यह भी पढ़ें-  'CM शिवराज सिंह ने चुनौती दी थी- कौन है माई का लाल.., हमने बता दिया हम हैं...'

यह भी पढ़ें-    MP के ग्वालियर-चंबल में सवर्ण आंदोलन ने बिगाड़ा कांग्रेस-बीजेपी का खेल

यह भी पढ़ें-  मध्य प्रदेश: सपाक्स की पहली लिस्ट तैयार, कई रिटायर्ड IAS और IPS अफसरों के नाम
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...