Corona से जंग: इस जगह मिल रही कमाल की सजा, लोग मार भी नहीं खा रहे और दिल पर पत्थर भी है

विदिशा में कोरोना गाइडलाइन तोड़ने वालों को मिल रही अनूठी सजा. (प्रतिकात्मक तस्वीर)

विदिशा में कोरोना गाइडलाइन तोड़ने वालों को मिल रही अनूठी सजा. (प्रतिकात्मक तस्वीर)

bizarre Fight against corona: विदिशा में लोग नहीं मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग नहीं मान रहे थे. इसलिए पुलिस ने उनके हाथ पर सील लगानी शुरू कर दी. ताकि, वे फिर नियम तोड़ें तो पकड़े जाएं.

  • Share this:

विदिशा. विदिशा जिले में बेकाबू कोरोना संक्रमण से लड़ने के लिए प्रशासन ने अनूठी पहल की है. यहां बार-बार बोलने पर भी लोग कोरोना गाइडलाइंस का पालन नहीं कर रहे. प्रशासन को उम्मीद है कि इससे कोरोना संक्रमण की रफ्तार कुछ हद तक थम जाएगी.

विदिशा में बगैर मास्क पहने लोगों को रोककर उनके हाथ पर एक सील लगाई जा रही है. इस सील में लिखा है- “मैं कोरोना दूत हूं...” इसके बाद नियम तोड़ रहे लोगों को चौराहे पर बनी खुली जेल में बंद किया जा रहा है. कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करने वालों को इस जेल में ‘संक्रमण को रोकने के लिए क्या और प्रबंध किए जाएं’ विषय पर निबंध और स्लोगन लिखवाए जा रहे हैं. इसके बाद भी अगर कोई दोबारा सील लगा व्यक्ति पकड़ा जाता है तो उस पर सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

Youtube Video

मध्य प्रदेश की ये है वास्तविक स्थिति
मध्य प्रदेश (MP) में कोरोना (Corona) दिन पर दिन बेकाबू होता नजर आ रहा है. कोरोना संक्रमण के मामले में एमपी देश में सातवें स्थान पर पहुंच गया है. 7 दिन में इंदौर का औसत पॉजिटिविटी रेट 15 जबकि भोपाल का 19 पर पहुंच गया है. हालात अब सबको डरा रहे हैं. सरकार बार-बार लोगों से जागरुक रहने की अपील कर रही है और अब वो किल कोरोना-II अभियान शुरू करेगी. इस बीच कोरोना संक्रमण का पॉजिटिविटी रेट जबलपुर में 11, उज्जैन में 9, खरगोन और रतलाम में 15, बैतूल में 13, बड़वानी में 16 और छिंदवाड़ा में 7 फ़ीसदी हो गया है.

इंदौर में 788 और भोपाल में 549 नये केस

इंदौर में 788 नये प्रकरण आए हैं जबकि भोपाल में 549, जबलपुर में 286, ग्वालियर में 146, उज्जैन में 98, रतलाम में 85, खरगोन में 75, बड़वानी में 73, कटनी में 65, छिंदवाड़ा में 62, बैतूल और नरसिंहपुर में 61, सिवनी में 56 और शाजापुर में कोरोना के 51 नये मरीज मिले हैं. प्रदेश के 23 जिलों में कोरोना के नये पेशेंट्स की संख्या 50 से 20 के बीच में है और 15 जिलों में यह संख्या 20 से नीचे है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज