चना तुलवाने आए किसान की मंडी प्रांगण में मौत पर हंगामा

विदिशा के लटेरी में अपनी चने की फसल से भरी ट्राली की तुलाई का इंतज़ार करते-करते किसान ने दम तोड़ दिया. 4 दिनों से अपनी ट्राली तुलाई का इंतज़ार कर रहा था.

Bharat Rajput | News18 Madhya Pradesh
Updated: May 17, 2018, 10:05 PM IST
चना तुलवाने आए किसान की मंडी प्रांगण में मौत पर हंगामा
किसान की मंडी में मौत के बाद उसके शव को ले जाता बेटा
Bharat Rajput | News18 Madhya Pradesh
Updated: May 17, 2018, 10:05 PM IST
विदिशा के लटेरी में अपनी चने की फसल से भरी ट्राली की तुलाई का इंतज़ार करते-करते किसान ने दम तोड़ दिया. 4 दिनों से अपनी ट्राली तुलाई का इंतज़ार कर रहा था. तुलाई केंद्रों पर छांव और पानी की व्यवस्था नहीं होने से किसानों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. गुरुवार को इस किसान ने मंडी प्रांगण में ही दम तोड़ दिया. 65 वर्षीय मृतक किसान मूलचंद बीजूखेड़ी गांव का निवासी था.

मृतक किसान के बेटे ने तुलाई न करने का लगाया आरोप लगाते हुए कहा कि अगर ऐसा पता होता तो वह चना तुलवाने ही नहीं आते.घटना की सूचना मिलते ही एडीएम सहित आला अधिकारी घटना स्थल पर पहुंचे.किसान की मौत के बाद गुस्साए किसानों ने जमकर नारेबाजी की और तुलाई में पक्षपात का आरोप लगाया.

विदिशा के लटेरी में चना तुलाई केंद्र पर अपनी फसल की तुलाई का इंतज़ार करते-करते किसान मुंशीलाल ने तुलाई केंद्र पर दम तोड़ने के मामले में एडीए ने जाँच के आदेश दिए और दोषियों कार्यवाही की बात कही. उन्होंने मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के अंतर्गत पात्र पाए जाने पर 4 लाख की मदद का आश्वासन भी दिया लेकिन एडीएम तुलाई केंद्रों पर किसानों को पीने के पानी और तपती धूप में छांव की व्यवस्था पर किसानों की बात से सहमत नहीं दिखाई दिए.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर