• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • गंजबासौदा हादसा : कुएं और मलबे से 10 शव बरामद, राहत और बचाव कार्य बंद

गंजबासौदा हादसा : कुएं और मलबे से 10 शव बरामद, राहत और बचाव कार्य बंद

vidisha tragic accident : विदिशा जिले में हुए हादसे में रेस्क्यू ऑपरेशन अभी भी जारी है. अभी तक 4 शवों को बरामद किया जा चुका है.

Madhya Pradesh : विदिशा हादसे की जानकारी मिलते ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने NDRF की टीम को बचाव कार्य के लिए मौके पर भेजा. इस दौरान जिले के प्रभारी मंत्री विश्वास सारंग भी वहां पहुंचे.

  • Share this:
विदिशा. गंजबासौदा में गुरुवार रात हुए भयावह हादसे के बाद अब भी बचाव कार्य जारी है. कुएं में से अब तक 10 लोगों के शव निकाले जा चुके हैं. कई लोग अब भी लापता हैं जिनकी तलाश की जा रही है. लाल पठार में एक कुएं में एक बच्चा गिर गया था. उसे बचाने जब लोग पहुंचे तो पूरा कुआं ही धंस गया. कुएं के आसपास भारी भीड़ थी, जिसकी वजह से करीब 40 लोग उसमें गिर गए. कुआं धसने की इस घटना में अभी तक 4 लोगों की मौत हो चुकी है. 20 लोगों को बचा लिया गया है. जबकि, 15-20 लोगों के अभी भी फंसे होने की आशंका है. राज्य सरकार ने मृतकों के परिवारजनों को 5 लाख रुपए और घायलों को 50 हजार रुपए की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है. घायलों को मुफ्त इलाज की सुविधा प्रदान की जाएगी. हादसा होते ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसकी उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए. NDRF की टीम राहत-बचाव कार्य में जुटी हुई है.

हादसे का सर्वे ड्रोन से किया जा रहा है. ADG ए. सांई मनोहर की निगरानी में ये सर्वे भोपाल कंट्रोल रूम में भेजा जा रहा है. डिजास्टर मैनेजमेंट के वरिष्ठ अधिकारियों को भी इसकी तस्वीरें भेजी जा रही हैं. सीएम शिवराज कंट्रोल रूम से पूरे हादसे की जानकारी ले रहे हैं. घटना को लेकर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी चिंता जताई है. बता दें, जिले के प्रभारी मंत्री विश्वास सारंग ने मृतकों की संख्या तीन बताई है, जबकि मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 5 शव बरामद हुए हैं.



जानिए कमिश्नर ने क्या कहाकमिश्नर कवींद्र कियावत ने कहा कि रेस्क्यू ऑपरेशन सही समय पर शुरू हुआ. स्थानीय लोगों को सही समय पर मदद दी गई. समय और परिस्थिति को देखकर निर्णय लिया गया. स्थानीय लोगों के कुएं के पहले भी धसकने की शिकायत को गंभीरता से  न लेने के सवाल पर कमिश्नर ने कहा कि यह जांच का विषय है. कलेक्टर को जांच के निर्देश दिए हैं. जांच के बाद लापरवाही बरतने वालों पर की जाएगी कार्रवाई. प्रदेश के मुख्यमत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि 19 लोगों को निकाल लिया गया है. मलबे की वजह से समस्या आ रही है. 3 पार्थिव शरीर निकाले जा चुके है, जबकि 13 मिसिंग हैं. मिसिंग में से भी दो पुराने केस हैं.

कमलनाथ ने किया ये ट्वीट

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने ट्वीट किया, ‘विदिशा जिले के गंजबासौदा में कई लोगों के कुएं में गिर जाने का मामला सामने आया है. मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि दुर्घटना से प्रभावित सभी लोग सुरक्षित रहें और प्रशासन उन्हें तत्परता से उपचार मुहैया कराए.' वहीं कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट किया- 'बेहद दुखद. मृतकों के परिवारजनों को शोक संवेदनाएं. कांग्रेस साथियों से अपील है कि बचाव कार्य में हर संभव मदद करें.'



गृह मंत्री ने जताया दुख

विदिशा हादसे को लेकर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने ट्वीट किया-  गंजबासौदा के लाल पठार गांव में कल रात हुए दर्दनाक हादसे में काल कवलित हुए लोगों को विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं. ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि वे दिवंगत आत्माओं को शांति दें और परिजनों को यह गहन दुख सहने का आत्मबल प्रदान करें. ऊं शांति!



फूटा ग्रामीणों का गुस्सा: शव के निकालने पर ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा. लोगों ने एम्बुलेंस को रोकने की कोशिश की. महिलाएं भी गुस्से में. महिलाएं शवों को दिखाने की मांग कर रही हैं.





गौरतलब है कि जिस वक्त हादसा हुआ उस वक्त मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी विदिशा जिले में ही थे. उन्होंने तुरंत एनडीआरएफ भोपाल की टीमों और अधिकारियों को मौके पर रवाना किया. जिले के प्रभारी मंत्री विश्वास सारंग भी भोपाल से विदिशा पहुंचे गए थे.



Vidisha Tragic Accident News Updates: यहां जानिए टाइम टू टाइम अपडेट

7:59 AM: मध्य प्रदेश के विदिशा जिले में राहत बचाव कार्य जारी है. बचाव कार्य टीम ने एक और शव बरामद किया. गौरतलब है कि हादसा लाल पठार में हुआ. एक कुएं में एक बच्चा गिर गया. उसे बचाने जब लोग पहुंचे तो पूरा कुआं ही धंस गया.

8:12 AM: फूटा ग्रामीणों का गुस्सा: शव के निकालने पर ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा. लोगों ने एम्बुलेंस को रोकने की कोशिश की. महिलाएं भी गुस्से में. महिलाएं शवों को दिखाने की मांग कर रही हैं.

8:29 AM: राज्य सरकार ने मृतकों के परिवारजनों को 5 लाख रुपए और घायलों को 50 हजार रुपए की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है.जिस वक्त हादसा हुआ उस वक्त मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी विदिशा जिले में ही थे.

8:47 AM: हादसे के रेस्क्यू ऑपरेशन को लेकर लोग काफी नाराज हैं. लोगों का कहना है कि राहत कार्य रोक दिया गया है. लोग चाहते हैं कि शवों को दिखने की इजाजत दी जाए. गौरतलब है कि राज्य सरकार ने मृतकों के परिवारजनों को 5 लाख रुपए और घायलों को 50 हजार रुपए की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है.

9:01 AM: विदिशा हादसे पर राहुल गांधी ने ट्वीट किया- राहुल गांधी ने ट्वीट किया- 'बेहद दुखद. मृतकों के परिवारजनों को शोक संवेदनाएं. कांग्रेस साथियों से अपील है कि बचाव कार्य में हर संभव मदद करें.'

9:06 AM: गंजबासौदा से पूर्व विधायक निशंक जैन ने प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए. उन्होंने कहा कि गंजबासौदा टीआई को हादसे के वक्त फोन लगाया था. लेकिन, उन्होंने उठाया नहीं. हादसे के तुरंत बाद अगर रेस्क्यू शुरू हो जाता तो कई लोगों की जान बच जाती. प्रशासन को कई बार पानी और कुएं को लेकर शिकायत की गई, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई. निशंक जैन की मांग है कि मृतक के परिजन को 10 लाख और नौकरी दी जाए.

9:35 AM: विदिशा हादसे को लेकर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने ट्वीट किया-  गंजबासौदा के लाल पठार गांव में कल रात हुए दर्दनाक हादसे में काल कवलित हुए लोगों को विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं. ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि वे दिवंगत आत्माओं को शांति दें और परिजनों को यह गहन दुख सहने का आत्मबल प्रदान करें. ऊं शांति!

10:03 AM: हादसे का सर्वे ड्रोन से किया जा रहा है. ADG ए. सांई मनोहर की निगरानी में ये सर्वे भोपाल कंट्रोल रूम में भेजा जा रहा है. डिजास्टर मैनेजमेंट के वरिष्ठ अधिकारियों को भी इसकी तस्वीरें भेजी जा रही हैं. सीएम शिवराज कंट्रोल रूम से पूरे हादसे की जानकारी ले रहे हैं.

10:15 AM: कमिश्नर कवींद्र कियावत ने कहा कि रेस्क्यू ऑपरेशन सही समय पर शुरू हुआ. स्थानीय लोगों को सही समय पर मदद दी गई. समय और परिस्थिति को देखकर निर्णय लिया गया. स्थानीय लोगों के कुएं के पहले भी धसकने की शिकायत को गंभीरता से  न लेने के सवाल पर कमिश्नर ने कहा कि यह जांच का विषय है. कलेक्टर को जांच के निर्देश दिए हैं. जांच के बाद लापरवाही बरतने वालों पर की जाएगी कार्रवाई.

जानिए विदिशा हादसा कैसे लेता गया विकराल रूप

1- शाम 6 बजे 13 साल का बच्चा कुएं में गिरा

2- 6.15 बजे बच्चे को बचाने 3 लोग कुएं में उतरे. हादसा देखने आसपास के लोगों ने लगाई भीड़.

3- करीब 6.45बजे 30-40 लोगों की भीड़ कुएं के स्लैब पर चढ़ी. गाडर टूटा. कुएं का स्लैब धंसा और भीड़ कुएं के अंदर गिर गई

4- लगभग 7 बजे पुलिस ने शुरू किया रेस्क्यू. 5 से 6 लोग तैरकर बाहर निकले

5- 9.30 बजे पहुंची NDRF और SDRF टीम

6- 9.45 बजे कुएं से पानी निकालने के लिए ट्रैक्टर में लगाई मोटर. पानी निकलने के साथ शुरू हुई मिट्टी धंसकना

7- 10 बजे मिट्टी धंसकने से ट्रैक्टर कुएं में गिरा. ट्रैक्टर को पकड़ने के दौरान 5 होमगार्ड सैनिक भी गिरे. 2 होमगार्ड सैनिक घायल. 3 सुरक्षित

8- रात 1.45 से 2.15 के बीच 2 शवों को निकाला गया बाहर 2.15 बजे ट्रैक्टर को जेसीबी की मदद से निकाला

9- रात भर जारी रहा रेस्क्यू ऑपरेशन. निकाले गए

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज