• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • विदिशा हादसा: कुएं में गिरे 24 घंटे भी नहीं बीते, फिर जुट गए मदद में, ऐसे जान की बाजी लगा रहे जवान

विदिशा हादसा: कुएं में गिरे 24 घंटे भी नहीं बीते, फिर जुट गए मदद में, ऐसे जान की बाजी लगा रहे जवान

होम गार्ड के जवान पिल्लई कुएं में गिर गए थे. वे कुछ घंटों बाद ही काम पर लौट आए. (ANI)

होम गार्ड के जवान पिल्लई कुएं में गिर गए थे. वे कुछ घंटों बाद ही काम पर लौट आए. (ANI)

MP Accident: मध्य प्रदेश के विदिशा जिले में हुए दर्दनाक हादसे के रेस्क्यू ऑपरेशन में जवान पूरा दम लगा रहे हैं. एक जवान तो कुएं में गिरकर घायल भी हो गए थे. ये जवान कुछ घंटों बाद ही मौके पर फिर पहुंच गए.

  • Share this:
    विदिशा. जब इंतेहान की घड़ी होती है तब हमारे जवान जान की बाजी लगाने से भी नहीं चूकते. यह बात एक बार फिर साबित हो गई. विदिशा जिले में हुए ‘मौत के कुएं’ के दर्दनाक हादसे ने दिखा दिया कि हमारी सुरक्षा कितनी मजबूत है. इस हादसे में घायल हुए एक जवान दूसरे दिन फिर रेस्क्यू ऑपरेशन में जुट गए.

    होम गार्ड इंस्पेक्टर शशिधर पिल्लई उन लोगों में शामल थे, जो कल हादसे के वक्त कुएं में गिर गए थे. वे इस दौरान गंभीर रूप से घायल हो गए थे. उन्होंने कहा- ‘कल मैं दो लोगों के साथ कुएं में गिर गया था. हमें सुरक्षित निकाल लिया गया. हम अपनी जान की परवाह नहीं करते और अपने कर्तव्य का सम्मान करते हैं.’





    बच्चा गिरने से बाद शुरू हुआ हादसे का दौर

    गौरतलब है कि गुरुवार रात लाल पठार में एक कुएं में एक बच्चा गिर गया. उसे बचाने जब लोग पहुंचे तो पूरा कुआं ही धंस गया. कुएं के आसपास भारी भीड़ थी, जिसकी वजह से करीब 40 लोग उसमें गिर गए. कुआं धसने की इस घटना में अभी तक 4 लोगों की मौत हो चुकी है. 20 लोगों को बचा लिया गया है. जबकि, 15-20 लोगों के अभी भी फंसे होने की आशंका है.

    सरकार ने की ये मदद

    राज्य सरकार ने मृतकों के परिवारजनों को 5 लाख रुपए और घायलों को 50 हजार रुपए की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है. घायलों को मुफ्त इलाज की सुविधा प्रदान की जाएगी. हादसा होते ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसकी उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए. NDRF की टीम राहत-बचाव कार्य में जुटी हुई है.

    जानिए कमिश्नर ने क्या कहा

    कमिश्नर कवींद्र कियावत ने कहा कि रेस्क्यू ऑपरेशन सही समय पर शुरू हुआ. स्थानीय लोगों को सही समय पर मदद दी गई. समय और परिस्थिति को देखकर निर्णय लिया गया. स्थानीय लोगों के कुएं के पहले भी धसकने की शिकायत को गंभीरता से  न लेने के सवाल पर कमिश्नर ने कहा कि यह जांच का विषय है. कलेक्टर को जांच के निर्देश दिए हैं. जांच के बाद लापरवाही बरतने वालों पर की जाएगी कार्रवाई. प्रदेश के मुख्यमत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि 19 लोगों को निकाल लिया गया है. मलबे की वजह से समस्या आ रही है. 3 पार्थिव शरीर निकाले जा चुके है, जबकि 13 मिसिंग हैं. मिसिंग में से भी दो पुराने केस हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज