सुषमा स्वराज ने सियासी करियर में बनाए कई रिकॉर्ड, ऐसे की थी राजनीति में एंट्री
Vidisha-Madhya-Pradesh News in Hindi

सुषमा स्वराज ने सियासी करियर में बनाए कई रिकॉर्ड, ऐसे की थी राजनीति में एंट्री
सुषमा स्वराज के नाम है भारतीय राजनीति के कई बड़े रिकॉर्ड(फाइल फोटो)

सुषमा स्वराज ने अपनी राजनीतिक करियर में उन्होंने तमाम बुलंदियां अपने नाम कीं, इस दौरान कुछ ऐसे रिकॉर्ड भी बनाए जिनका टूट पाना अब लगभग नामुमकिन सा लगता है.

  • Share this:
पूर्व विदेश मंत्री एवं बीजेपी की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज का मंगलवार रात कार्डियक अरेस्ट के चलते निधन हो गया. उन्होंने दिल्ली के एम्स में अंतिम सांस ली. देश की राजनीति में सुषमा स्वराज का बड़ा नाम रहा है, वैसे तो सुषमा स्वराजा का कई राज्यों से रहा है, लेकिन सियासी तौर पर मध्य प्रदेश से उनका नाता काफी मजबूत रहा है, वह मध्य प्रदेश के विदिशा से एक बार नहीं, बल्कि दो बार चुनाव जीतकर लोकसभा पहुंची थीं. करीब 4 दशकों के सियासी करियर में उन्होंने तमाम बुलंदियां अपने नाम कीं. इस दौरान कुछ ऐसे रिकॉर्ड भी बनाए जिनका अब टूट पाना लगभग नामुमकिन सा है.

दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री थीं सुषमा स्वराज

13 अक्टूबर 1998 को जब सुषमा स्वराज दिल्ली की मुख्यमंत्री बनीं थी. इत्तेफाक से इसी दिन उनके नाम दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री होने का रिकॉर्ड भी दर्ज हो गया था. हालांकि कुछ ही हफ्तों के बाद उनकी कुर्सी चली गई थी. बता दें कि सुषमा स्वराज दिल्ली की मुख्मंत्री बनने वाली पांचवीं शख्सियत थीं.



BJP से सीएम बनने वाली पहली महिला बनीं थी सुषमा स्वराज
BJP से सीएम बनने वाली पहली महिला बनीं थी सुषमा स्वराज (फाइल फोटो)
BJP से सीएम बनने वाली पहली महिला बनीं थी सुषमा स्वराज (फाइल फोटो)


सुषमा स्वराज भले ही भले ही कुछ समय के लिए दिल्ली की मुख्यमंत्री बनी थी, लेकिन बीजेपी की ओर से पहली महिला मुख्यमंत्री होने का खिताब भी उनके नाम पर दर्ज है गया, उनके बाद बीजेपी से उमा भारती, वसुंधरा राजे और आनंदीबेन पटेल भी मुख्यमंत्री बनीं.

5 साल तक पहली महिला विदेश मंत्री बनाने का बनाया रिकॉर्ड

सुषमा स्वराज के नाम भारत में पांच साल तक विदेश मंत्री के पद पर रहने वाली पहली महिला होने का खिताब भी दर्ज है. विदेश मंत्री रहते हुए सुषमा स्वराज ने अपनी लोकप्रियता में काफी इजाफा किया. उनसे पहले इंदिरा गांधी भी दो बार विदेश मंत्री बनी थीं.

लोकसभा में पहली गैर कांग्रेसी महिला नेता प्रतिपक्ष बनी सुषमा

दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री थीं सुषमा स्वराज(फाइल फोटो)
दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री थीं सुषमा स्वराज(फाइल फोटो)


सुषमा स्वराज 2004 से 2009 तक लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष के पद पर भी रहीं. उनसे पहले इस पद पर पहुंचने वाली महिलाओं में सिर्फ कांग्रेस नेता सोनिया गांधी का नाम है.

हरियाणा की यंगेस्ट मिनिस्टर बनने का खिताब

हरियाणा की यंगेस्ट मिनिस्टर बनने का खिताब भी सुषमा स्वराज के पास ही है. सुषमा स्वराज के  राजनीतिक करियर की शुरूआत हरियाणा विधानसभा से ही शुरू हुई थी. महज 25 साल की उम्र में उन्होंने हरियाणा के मंत्री मंडल में जगह बना ली थी.

हरियाणा की यंगेस्ट मिनिस्टर बनने का खिताब सुषमा स्वराज के नाम (फाइल फोटो)-sushma swaraj news, sushma swaraj death, sushma swaraj latest, sushma swaraj latest news
हरियाणा की यंगेस्ट मिनिस्टर बनने का खिताब सुषमा स्वराज के नाम (फाइल फोटो)


BJP से पहली महिला कैबिनेट मंत्री बनने का बनाया रिकॉर्ड

बीजीपी से पहली महिला कैबिनेट मंत्री बनने का रिकॉर्ड भी सुषमा स्वराज के नाम है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सुषमा स्वराज भारतीय जनता पार्टी से कैबिनेट मंत्री बनने वाली पहली महिला नेता भी हैं. वे पहली अटल सरकार में सूचना एवं प्रसारण मंत्री बनी थीं. साथ ही उनके नाम एक खास रिकॉर्ड भी है, जब महिला कैबिनेट मंत्री के दौरान वो पहली महिला है, जिन्हें असाधारण सांसद का पुरस्कार भी मिला है.

यह भी पढ़ें- सुषमा स्वराज का MP से था गहरा नाता, शिवराज सिंह ने अपनी सीट से चुनाव लड़ने के लिए दिया था आमंत्रण
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading