सरकारी स्कूल में बजी शहनाई, शिक्षकों ने सैलरी बचाकर करवाई स्टूडेंट की शादी

वंदना के पिता इसी स्कूल में रसोइया का काम करते हैं. उनकी हैसियत ऐसी नहीं थी कि वह बेटी का विवाह इतनी धूमधाम से कर सके.

Bharat Rajput | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: February 9, 2018, 2:44 PM IST
सरकारी स्कूल में बजी शहनाई, शिक्षकों ने सैलरी बचाकर करवाई स्टूडेंट की शादी
Photo- ANI
Bharat Rajput | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: February 9, 2018, 2:44 PM IST
मध्य प्रदेश के विदिशा जिले में हुई एक शादी पूरे देश के लिए मिसाल बन गई है. यहां एक शिक्षक ने सरकारी स्कूल में पढ़ने वाली गरीब छात्रा का अपने खर्चे पर विवाह करवाया. इस नेक पहल में सरकारी स्कूल के अन्य शिक्षकों ने भी आर्थिक मदद दी. इस विवाह समारोह में सरकार के कई अफसर और स्थानीय जनप्रतिनिधि भी शामिल हुए.

इस नेक पहल का गवाह विदिशा जिले के शासकीय प्राथमिक शाला पीपरहूठा का बना है. यहां पदस्थ कैलाश आर्य नाम के शिक्षक ने अपने अन्य तीन साथी शिक्षकों से हर महीने अपनी वेतन से दो-दो हजार रुपए जमाकर इसी स्कूल में पढ़ी वंदना की धूमधाम से शादी करवाई. इस शिक्षक ना केवल शादी करवाई बल्कि शादी में दिया जाने वाला सारा गृहस्थी का सामान भी उसकी विदाई में दिया है.

वंदना के पिता इसी स्कूल में रसोइया का काम करते हैं. उनकी हैसियत ऐसी नहीं थी कि वह बेटी का विवाह इतनी धूमधाम से कर सके. इसी विद्यालय के शिक्षक तथा शिक्षिकाओं ने संकल्प लिया कि वेतन का कुछ पैसा बचाकर बेटी की शादी भी इसी स्कूल से करेंगे.

कैलाश का यह संकल्प आठ फरवरी को पूरा हुआ. उन्होंने स्कूल परिसर में ही भव्य मंडप बनाकर धूमधाम से शादी करवाई. इसमें सहयोगी शिक्षकों ने भी भरपूर सहयोग दिया. भव्य विवाह समारोह में अनेक प्रशासनिक अधिकारी और जनप्रतिनिधि शामिल हुए.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...