टीचर्स डे पर महिला शिक्षकों ने मांगा बंदूक का लाइसेंस!

vivek trivedi
Updated: September 5, 2014, 3:49 PM IST
टीचर्स डे पर महिला शिक्षकों ने मांगा बंदूक का लाइसेंस!
शिक्षक दिवस पर पूरे देश में उत्‍सव मनाया जा रहा है, वहीं प्रतिष्‍ठा बचाने की जद्दोजहद में जुटीं विदिशा की महिला शिक्षकें बंदूक के लाइसेंस की मांग कीं। दरअसल हाल के महीनों में यहां के गुंडे महिला शिक्षकों के साथ बलात्‍कार के कई बार प्रयास कर चुके हैं। गुरुवार को शुरू हुआ महिलाओं का विरोध-प्रदर्शन शुक्रवार को भी जारी रहा।

शिक्षक दिवस पर पूरे देश में उत्‍सव मनाया जा रहा है, वहीं प्रतिष्‍ठा बचाने की जद्दोजहद में जुटीं विदिशा की महिला शिक्षकें बंदूक के लाइसेंस की मांग कीं। दरअसल हाल के महीनों में यहां के गुंडे महिला शिक्षकों के साथ बलात्‍कार के कई बार प्रयास कर चुके हैं। गुरुवार को शुरू हुआ महिलाओं का विरोध-प्रदर्शन शुक्रवार को भी जारी रहा।

  • Last Updated: September 5, 2014, 3:49 PM IST
  • Share this:
शिक्षक दिवस पर पूरे देश में उत्‍सव मनाया जा रहा है, वहीं प्रतिष्‍ठा बचाने की जद्दोजहद में जुटीं विदिशा की महिला शिक्षकें बंदूक के लाइसेंस की मांग कीं। दरअसल हाल के महीनों में यहां के गुंडे महिला शिक्षकों के साथ बलात्‍कार के कई बार प्रयास कर चुके हैं। गुरुवार को शुरू हुआ महिलाओं का विरोध-प्रदर्शन शुक्रवार को भी जारी रहा।

आजाद अधिनायक संघ के बैनर तले महिला शिक्षकों ने जिला प्रशासन के दफ्तर में प्रदर्शन व नारेबाजी की। साथ ही अपराधियों से खुद की रक्षा के लिए महिला शिक्षकों को बंदूक की लाइसेंस जारी करने की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा।

हंगामा कर रहीं महिलाओं ने कहा कि एक शिक्षक ने महिला शिक्षक के साथ बलात्‍कार करने की कोशिश की, यह घटना बेहद शर्मनाक है। उनका कहना था कि जब तक महिला शिक्षक खुद को सुरक्षित महशूस नहीं करेंगी तब तक भला वह समाज उत्‍थान के लिए कैसे काम करेंगी।

शिक्षकों ने बताया कि जब वह घर से स्‍कूल जातीं हैं तो वह खुद को बेहद असुरक्षित महशूस करतीं हैं। उन्‍होंने कहा कि अगर स्‍थानीय प्रशासन ने तत्‍काल महिला सुरक्षा के पर्याप्‍त इंतजाम नहीं किए तो वे अनिश्‍चितकालीन हड़ताल पर जाएंगी। इसके अलावा हाल की आपराधिक घटनाओं में घायल हुईं महिला शिक्षकों को राष्‍ट्रपति के हाथों सम्‍मानित करने की भी मांग की।

पिछले दिनों विदिशा के ग्‍यारसपुर गांव में स्‍कूल जा रही महिला शिक्षक को बदमाश दौलत लोधी ने घेर लिया था और उसके साथ बलात्‍कार की कोशिश की थी। महिला शिक्षक बहादुरी के साथ बदमाश का करीब 30 मिनट तक मुकाबला किया और उसके मंसूबे पर पानी फेर दिया। स्‍थानीय लोगों की मदद से महिला शिक्षक को बदमाश के चंगुल से छुड़ाया जा सका।

अस्‍पताल में भर्ती महिला शिक्षक के चेहरे, आंखों और हाथ में गंभीर चोटें आई हैं। सीएसपी नगेंद्र पटेरिया ने बताया कि आरोपी दौलत लोधी पहले भी आपराधिक घटनाओं में संलिप्‍त रहा है। महिला शिक्षक की शिकायत पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।

विदिशा शिक्षक संघ के अध्‍यक्ष केशव रघुवंशी ने कहा, 'हमनें घायल महिला शिक्षक के उचित उपचार और अन्‍य शिक्षकों की सुरक्षा की मांग को लेकर कलेक्टर, एसपी और एसडीएम को ज्ञापन सौंप है।' उन्‍होंने कहा कि पीड़ित महिला शिक्षक को उपचार के लिए भोपाल के अस्‍पताल में भेजा गया है। पूरा शिक्षक समाज पीड़िता के परिवार के साथ है।

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2014, 1:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...