महाराष्ट्र: कोरोना वायरस संक्रमण के 11,813 नए केस, 9115 लोग हुए ठीक; अब तक 19,063 मौतें

महाराष्ट्र में कोविड-19 के 3,90,948 मरीज ठीक हो चुके हैं

Covid-19 Cases in Maharashtra: महाराष्ट्र (Maharashtra) में गुरुवार को कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के 11,813 केस सामने आए जबकि इस अवधि में 413 लोगों की मौत हो गई. राजधानी मुंबई (Mumbai) में ही गुरुवार को 1200 मामले आए

  • Share this:
    मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में गुरुवार को कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के 11,813 नए मामले सामने आए जिसके बाद राज्य में संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 5,60,126 हो गई. स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी. विभाग ने कहा कि कोविड-19 (Covid-19) से 413 और मरीजों की मौत हो गई जिससे मृतकों की संख्या बढ़कर 19,063 हो गई. विभाग की ओर से जारी वक्तव्य के अनुसार गुरुवार को 9,115 मरीज ठीक हो गए. वर्तमान में राज्य में 1,49,798 मरीज उपचाराधीन हैं. विभाग ने कहा कि अब तक महाराष्ट्र में कोविड-19 के 3,90,948 मरीज ठीक हो चुके हैं और 29,76,090 लोगों की जांच की जा चुकी है.

    वहीं राजधानी मुंबई (Mumbai) में 1200 नए मामले सामने आए हैं वहीं 884 लोग इस दौरान ठीक हुए हैं. मुंबई में इस अवधि में 48 लोगों की मौत हुई है. 1200 नए मामले सामने आने के बाद मुंबई में संक्रमितों की संख्या 1,27,571 हो गई है. इसमें 19,332 एक्टिव मामले हैं जबकि अब तक 1,00,954 लोग ठीक हुए हैं. वहीं अब तक शहर में अब तक 6,988 लोगों की मौत हो गई है. मुंबई में रिकवरी रेट 79 प्रतिशत है. वहीं मुंबई की सबसे बड़ी झुग्गी धारावी में कोरोना वायरस संक्रमण के छह नये मामले सामने आये हैं जिसके बाद यहां संक्रमितों की कुल संख्या 2,649 हो गयी है.

    ये भी पढ़ें- Corona:दुनियाभर में अब तक 7.5 लाख लोगों की मौत, चौथे नंबर पर भारत का आंकड़ा

    धारावी में 90 मरीजों का चल रहा इलाज
    बीएमसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि एक समय कोरोना वायरस का हॉट स्पॉट रहे धारावी में अभी केवल 90 मरीजों का विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है. उन्होंने बताया कि 2,649 मरीजों में से 2,300 मरीज पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं. वहीं महाराष्ट्र सरकार ने गुरुवार को बम्बई उच्च न्यायालय को बताया कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर पर्यूषण पर्व पर वह शहर में जैन मंदिरों को भक्तों के लिए खोलने की अनुमति नहीं दे सकती है. राज्य ने कहा कि इस साल 15 से 23 अगस्त तक मंदिरों को खोलना, जैसा कि जैन समुदाय द्वारा अनुरोध किया गया है, वायरस के प्रसार के खतरे को और बढ़ाएगा.

    पर्यूषण पर्व के दौरान बंद रहेंगे राज्य के जैन मंदिर
    राज्य सरकार की वकील पूर्णिमा कंथारिया ने न्यायमूर्ति एस जे कथावाला और न्यायमूर्ति माधव जमदार की पीठ के समक्ष एक लिखित जवाब पेश करते हुए कहा कि राज्य ने मंदिरों को नहीं खोलने का फैसला किया है क्योंकि इससे कोरोना वायरस के संक्रमण का और प्रसार हो सकता है, जिससे लोगों की जान जा सकती है. पीठ शहर से जैन समुदाय का प्रतिनिधित्व करने वाले सदस्यों द्वारा दायर दो याचिकाओं पर सुनवाई कर रही थी.

    याचिकाकर्ताओं ने आठ दिवसीय पर्यूषण पर्व के दौरान अपने मंदिरों में प्रवेश करने की अनुमति मांगी थी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.