Covid-19: मुंबई में कोरोना के सिर्फ हजार नए मामले, 13 अप्रैल के बाद सबसे कम मौतें

बीएमसी के मुताबिक मुंबई में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या 27,943 हो गयी है.

बीएमसी के मुताबिक मुंबई में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या 27,943 हो गयी है.

Mumbai Corona Case updates: इससे पहले 13 अप्रैल को मुंबई में कोविड-19 के कारण 26 लोगों की मौत हुई थी. इससे पहले मुंबई में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 1057 नए मामले सामने आए थे जबकि 48 मरीजों की मौत हुई थी.

  • Share this:

मुंबई. महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में पिछले 24 घंटे के दौरान कोविड-19 (Mumbai Coronavirus Case updates) के कारण 34 लोगों की मौत हुई है जोकि 13 अप्रैल के बाद एक दिन में इस महामारी से जान गंवाने वाले लोगों की सबसे कम संख्या है. बृहन्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) के अनुसार बुधवार को मुंबई में कोविड-19 के 1,362 नए मामले सामने आने के साथ कुल संक्रमितों की संख्या सात लाख के आंकड़े को पार कर 7,01,266 हो गयी. इस दौरान 34 और मरीजों की मौत होने से इस महामारी से जान गंवाने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 14,742 हो गयी है.

इससे पहले 13 अप्रैल को मुंबई में कोविड-19 के कारण 26 लोगों की मौत हुई थी. इससे पहले मुंबई में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 1057 नए मामले सामने आए थे जबकि 48 मरीजों की मौत हुई थी. देश की आर्थिक राजधानी कही जाने वाली मुंबई में पिछले 36 दिनों के दौरान कोविड-19 के करीब एक लाख नए मामले सामने आए हैं.

24 घंटे में 1 हजार से ज्यादा मरीजों को दी गई छुट्टी

बीएमसी के मुताबिक मुंबई में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या 27,943 हो गयी है. पिछले 24 घंटे के दौरान 1,021 मरीजों को संक्रमण मुक्त होने के बाद अस्पताल से छुट्टी भी दी गयी है. मुंबई में 14 अप्रैल को कोविड-19 के सर्वाधिक 11,163 नए मामले सामने आए थे जबकि एक मई को रिकार्ड 90 मरीजों की मौत हुई थी. मुंबई में अब तक 6,56,446 लोग इस जानलेवा वायरस को मात दे चुके हैं. मुंबई में कोविड-19 से ठीक होने की दर बढ़कर 94 प्रतिशत हो गयी है.
ये भी पढ़ेंः- अब बाजार में भी मिलेगी DRDO की कोविड-19 रोधी दवा 2-डीजी, कल जारी होगी दूसरी खेप

क्या महाराष्ट्र में खुलने वाला है लॉकडाउन?

महाराष्ट्र में लगातार कम होते कोरोना के मामलों के बीच, स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कुछ सहूलियतें देने का इशारा किया है. उन्होंने कहा कि इसकी समीक्षा की जाएगी. अगर सबकुछ पॉजिटिव रहा तो फिर मुख्यमंत्री, उप-मुख्यमंत्री टास्क फोर्स के एक्सपर्ट्स के साथ बातचीत करके ही कुछ हदतक पाबंदियों में ढील देने पर फैसला लेंगे.




टोपे ने आगे कहा, ''इस भ्रम में न रहें कि प्रतिबंध पूरी तरह से हटा दिए जाएंगे.'' वहीं, माना जा रहा है कि लॉकडाउन को धीरे-धीरे हटाने की योजना बनाई जा रही है. हालांकि, अभी यह स्पष्ट नहीं है कि ढील कब से शुरू होगी. राज्य में तीसरी लहर की आशंका के चलते पाबंदियां पूरी तरह नहीं हटेंगी, लेकिन कुछ छूट देने की गुंजाइश जरूर है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज