• Home
  • »
  • News
  • »
  • maharashtra
  • »
  • महाराष्‍ट्र में बाढ़ और बारिश से अब तक 149 लोगों की मौत, 100 से अधिक लापता

महाराष्‍ट्र में बाढ़ और बारिश से अब तक 149 लोगों की मौत, 100 से अधिक लापता

महाराष्‍ट्र में बाढ़ से हालात खराब हैं. (Pic- AP)

महाराष्‍ट्र में बाढ़ से हालात खराब हैं. (Pic- AP)

Maharashtra Floods: अब तक रायगढ़ में 60, रत्नागिरी में 21, सतारा में 41, ठाणे में 12, कोल्हापुर में सात, उपनगरीय मुंबई में चार और सिंधुदुर्ग और पुणे में दो-दो लोगों की मौत हुई है.

  • Share this:
    मुंबई. महाराष्‍ट्र (Maharashtra Floods) के विभ‍िन्‍न इलाकों में हुई बारिश से आई बाढ़ और भूस्‍खलन जैसी घटनाओं के कारण बड़ी संख्‍या में लोगों की मौत हुई है. अब तक राज्‍य में 149 लोग इन घटनाओं में अपनी जान गंवा चुके हैं. इसके साथ ही करीब 100 लोग अब भी लापता बताए जा रहे हैं. इस बीच मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने जल्‍द ही राहत पैकेज की घोषणा की बात कही है. उनका कहना है कि वह सोमवार को पश्चिमी महाराष्ट्र का दौरा करेंगे और नुकसान डाटा तैयार किया जाएगा.

    रायगढ़ के चिपलून में समीक्षा बैठक के बाद सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि सरकार प्रभ‍ावित लोगों को फिर से बसाने के लिए हरसंभव मदद करेगी. बाढ़ प्रभावित इलाकों में लोगों को भोजन, कपड़े, दवा और अन्‍य आवश्‍यक सामग्री जल्‍द उपलब्‍ध कराई जाएगी. जिला प्रशासन को इस बात के निर्देश दे दिए गए हैं कि राहत कार्य में कोई भी तकनीकी बाधा ना आए.

    वहीं केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने महाराष्‍ट्र सरकार पर हमला बोला है. उन्‍होंने कहा, 'राज्‍य सरकार कहां है? राज्‍य और जिला स्‍तर के अफसर कहां हैं? लोग बेसहारा हैं. लेकिन राज्‍य सरकार की ओर से कोई भी मदद नहीं दी जा रही है.' बता दें कि राणे ने रायगढ़ के तालिये गांव का दौरा किया है, जहां 49 लोगों की मौत हुई है.



    सरकार ने कहा कि अब तक रायगढ़ में 60, रत्नागिरी में 21, सतारा में 41, ठाणे में 12, कोल्हापुर में सात, उपनगरीय मुंबई में चार और सिंधुदुर्ग और पुणे में दो-दो लोगों की मौत हुई है. इन घटनाओं में अब तक 50 लोग घायल हो चुके हैं. कोंकण क्षेत्र और पश्चिमी महाराष्ट्र के प्रभावित जिलों से कुल 2,29,074 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है.

    कोल्हापुर, सांगली, सतारा और पुणे के कुल 875 गांव मूसलाधार बारिश से प्रभावित हुए हैं. रत्नागिरी जिले के बाढ़ प्रभावित चिपलून शहर में पांच राहत शिविर बनाए गए हैं. एनडीआरएफ की 25 टीमें, एसडीआरएफ की चार टीमें, तटरक्षक बल की दो टीमें, नौसेना की पांच टीमें और सेना की तीन टीमें राहत और बचाव अभियान चला रही हैं.

    राज्य सरकार ने रायगढ़ और रत्नागिरी जिलों में से प्रत्येक को 2-2 करोड़ रुपये की आपातकालीन वित्तीय सहायता प्रदान की है. बयान में कहा गया है कि बारिश से प्रभावित सतारा, सांगली, पुणे, कोल्हापुर, ठाणे और सिंधुदुर्ग को भी 50-50 लाख रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की गई है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज