शराब लाने से मना करने पर पड़ोसी के बेटे को छत से फेंका, जज ने सुनाई ये सजा

News18Hindi
Updated: August 31, 2019, 2:30 PM IST
शराब लाने से मना करने पर पड़ोसी के बेटे को छत से फेंका, जज ने सुनाई ये सजा
शराब लाने से मना करने पर पड़ोसी के बेटे को छत से फेंका, जज ने सुनाई ये सजा

आरोपी किरण तांबे, पीड़ित को घर की छत पर ले गया और शराब लाने को कहा. पीड़ित के मना करने पर तांबे ने उसे छत से धक्का दे दिया जिससे उसकी मौत हो गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 31, 2019, 2:30 PM IST
  • Share this:
महाराष्ट्र (Maharashtra) में ठाणे (Thane) जिले के दीवा में 35 वर्षीय एक शख्स को यहां की स्थानीय अदालत ने 2014 में पड़ोसी के 10 वर्षीय बेटे की हत्या (Murder) का दोषी करार देते हुए 20 साल की सजा सुनाई. जिला जज वी. वाई. जाधव ने किरण तांबे को भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) और धारा 363 (अपहरण) के तहत दोषी ठहराते हुए उस पर 55,000 रुपये जुर्माना भी लगाया.

सेलिब्रेशन के बहाने किया था गैंगरेप, पीड़िता ने तोड़ा दम

जज ने कहा कि अभियोजन आरोपी के खिलाफ आरोप साबित करने में सफल रहा है. इसलिए आरोपी को दोषी करार देकर सजा देने की जरूरत है. सुनवाई के दौरान मामले में नौ लोगों की गवाही हुई.

अतिरिक्त लोक अभियोजक विनीत कुलकर्णी ने अदालत को बताया कि तांबे ने 19 जनवरी 2014 को पत्नी से हो रही लड़ाई देखने पर पीड़ित और उसे भाई को डांटा. इसको लेकर तांबे और पीड़ित के पिता में तीखी बहस हुई. अगले दिन तांबे पीड़ित को घर की छत पर ले गया और शराब लाने को कहा. पीड़ित के मना करने पर तांबे ने उसे छत से धक्का दे दिया जिससे उसकी मौत हो गई.

जरुर पढ़ें: सोलापुर-पुणे हाइवे पर बस-ट्रक में भिड़ंत, 1 की मौत 11 घायल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 31, 2019, 2:30 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...