2013 चर्चित मुम्बई गैंगरेप का आरोपी गिरफ्तार, कई गंभीर अपराधों में शामिल होने के मिले सबूत

2013 के शक्ति मिल कंपाउंड गैंगरेप केस में आकाश जाधव नाबालिग आरोपी था.

2013 के शक्ति मिल कंपाउंड गैंगरेप केस में आकाश जाधव नाबालिग आरोपी था.

Mumbai Latest news in Hindi: इस मामले में क्राइम ब्रांच यूनिट 9 के प्रभारी पुलिस निरीक्षक नंदकुमार गोपाले ने बताया कि आरोपी आकाश जाधव समाज मे पैनिक क्रीएट करते हुए आतंक फैलाना चाहता था. वह कई अन्य गंभीर अपराधों में शामिल है. इस गैंग का सरगना आकाश जाधव ही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 3, 2021, 10:26 PM IST
  • Share this:
मुंबई. मुम्बई में एक बेहद ही चौंकाने वाली खबर सामने आई है. मुम्बई के शक्तिमिल कंपाउंड में 2013 में हुई गैंगरेप घटना में आरोपी रहे शख्स को मुम्बई क्राइम ब्रांच ने फिर से गिरफ्तार कर लिया हैं. मुम्बई क्राइम ब्रांच ने इसकी गिरफ्तारी हत्या, हत्या की कोशिश, धमकी देने, मारपीट करने और एक्सटॉर्शन जैसे गंभीर अपराधों में की है.

गिरफ्तार किए गए शख्स का नाम आकाश जाधव है, जो 2013 में गैंगरेप के मामले में आरोपी था. हालांकि नाबालिग होने की वजह से जेल से जल्दी छूट जाने में कामयाब रहा था. क्राइम ब्रांच ने इसके एक साथी अंकित नाइक को भी गिरफ्तार किया है. क्राइम ब्रांच से मिली जानकारी के अनुसार 28 फरवरी को बांद्रा इलाके में आरोपी आकाश और अंकित ने रिजवान कुरैशी नामक शख्स को चाकू के दम पर बुरी तरह से पीटा था. कुरैशी का अभी भी अस्पताल में इलाज चल रहा है.

मुंबई में आतंक फैलाना चाहता था...
मुम्बई क्राइम ब्रांच के डीसीपी अकबर पठान ने बताया कि हमें जानकारी मिली थी कि एक गैंग के कुछ लोग, स्थानीय नागरिकों में आतंक फैलाने की कोशिश कर रहे है. हमें पता चला कि आरोपी हिस्ट्रीशीटर है. हमारी टीम ने जाल बिछाया और दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. वहीं, इस मामले में क्राइम ब्रांच यूनिट 9 के प्रभारी पुलिस निरीक्षक नंदकुमार गोपाले ने बताया कि आरोपी आकाश जाधव समाज मे पैनिक क्रीएट करते हुए आतंक फैलाना चाहता था. वह कई अन्य गंभीर अपराधों में शामिल है. इस गैंग का सरगना आकाश जाधव ही है.
जानिए 2013 कंपाउंड गैंगरेप केस के बारे में


बता दें कि 2013 के शक्ति मिल कंपाउंड गैंगरेप केस में आकाश जाधव नाबालिग आरोपी था. 2013 में अपने चार साथियों के साथ आकाश जाधव ने मिलकर एक फोटो जर्नलिस्ट के साथ उस वक़्त गैंगरेप को अंजाम दिया था, जब वह अपने एक साथी के साथ अपना असाइनमेंट पूरा करने के लिए फ़ोटो लेने के लिए गई थी. मुम्बई क्राइम ब्रांच के मुताबिक आकाश और अंकित के खिलाफ मुम्बई के अलग-अलग पुलिस स्टेशनो में गंभीर अपराधों में कई मुकदमें दर्ज हैं. इसकी जांच करने में क्राइम ब्रांच जुटी हुई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज