19 घंटे बाद इमारत के मलबे से जिंदा मिला बच्‍चा मां-बहन की मौत से अंजान
Mumbai News in Hindi

19 घंटे बाद इमारत के मलबे से जिंदा मिला बच्‍चा मां-बहन की मौत से अंजान
मलबे से जिंदा निकाला गया था बच्‍चा.

रायगढ़ (Raigarh) के महाड में सोमवार को इमारत गिरी थी. इसके मलबे में मोहम्मद नदीम नाम के बच्‍चे को 19 घंटे बाद जिंदा निकाला गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 27, 2020, 8:40 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. महाराष्ट्र (Maharashtra) के रायगढ़ जिले में पांच मंजिला आवासीय इमारत गिरने की घटना में 15 से अधिक लोगों की मौत हुई है. वही इस घटना के 19 घंटे बाद एक चार साल के बच्‍चे को इमारत के मलबे से जिंदा निकाला गया. इस घटना ने सबकों चौंका दिया. मलबे में इस 4 साल के बच्‍चे की मां और बहन का शव भी बरामद किया गया था. ऐसे में बच्‍चे को अभी तक नहीं पता कि उसकी मां और बहन की मौत हो चुकी है.

रायगढ़ के महाड में सोमवार को इमारत गिरी थी. इसके मलबे में मोहम्मद नदीम नाम के बच्‍चे को 19 घंटे बाद जिंदा निकाला गया था. बच्चे के जीवित मिलने की खुशी ज्यादा देर तक नहीं टिक सकी थी और आधे घंटे से भी कम समय में उसी जगह से उसकी 30 वर्षीय मां नौशीन नदीम बंगी का शव बरामद किया गया था. हादसे में बच्चे की दो बहनों आयशा (सात) और रुकैया (दो) के शव भी कुछ देर बाद बरामद किए गए थे.

मोहम्‍मद के अंकल बशीर पार्कर ने बताया कि उसके पिता नदीम बंगी दुबई में काम करते हैं. वह लगातार अपनी मां और बहनों के बारे में पूछ रहा है. तीनों को मंगलवार को दफनाया गया है. बच्‍चे को बुधवार को अस्‍पताल से छुट्टी दे दी गई थी. इसके बाद वह अपनी मां की बहन के घर पर उनके साथ रहने के लिए चला गया है.



इस संबंध में एनडीआरएफ ने एक वीडियो साझा किया था. इसमें बच्चे को मलबे से निकालने और उसे स्ट्रेचर पर रखते हुए दिखाया गया है. राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के महानिदेशक एसएन प्रधान ने लड़के को भगवान का बालक बताया था. वहीं महाराष्ट्र के पीडब्ल्यूडी मंत्री एकनाथ शिंदे ने बुधवार को कहा कि वह महाड में इमारत ढहने की घटना में अपने परिवार को खो चुके चार साल के दोनों बच्चों की देखभाल करेंगे. शिंदे ने कहा कि उनके परिवार द्वारा संचालित एक संस्था दोनों बच्चों की शिक्षा का ध्यान रखेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज